औली उत्तराखंड हिल स्टेशन स्कीइंग लवर्स के लिए एक स्वर्ग हैं। - HINDI WEB BOOK

औली उत्तराखंड हिल स्टेशन स्कीइंग लवर्स के लिए एक स्वर्ग हैं।

औली उत्तराखंड हिल स्टेशन स्कीइंग लवर्स के लिए एक स्वर्ग हैं।

Facebook
WhatsApp
Telegram

औली उत्तराखंड हिल स्टेशन स्कीइंग लवर्स के लिए एक स्वर्ग हैं। औली उत्तर भारत के राज्य उत्तराखंड में एक हिमालय स्की रिसॉर्ट और हिल स्टेशन के रूप में प्रसिद्ध है। औली हिल स्टेशन शंकुधारी और ओक के जंगलों से घिरा हुआ है, तथा इसके साथ ही नंदा देवी और नर पर्वत पर्वत भी स्थित हैं। औली अपनी लंबी केबल कार जो औली को जोशीमठ शहर से जोड़ती है, के लिये भी प्रसिद्ध है। औली के उत्तर में रंगीन बद्रीनाथ मंदिर स्थित है, जो एक प्राचीन हिंदू तीर्थ स्थल है, और यही पर फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान भी हैं, जिसमें अल्पाइन की वनस्पतियां, हिम तेंदुआ और लाल लोमड़ी जैसे वन्यजीव भी हैं। 

औली उत्तराखंड हिल स्टेशन

औली उत्तराखंड हिल स्टेशन Destination for Skiing Lovers

गढ़वाल हिमालय रेंज में बर्फ से ढके हुऐ पहाड़ों के बीच स्थित, औली उत्तराखंड पर्यटन में सुंदरता और आकर्षण को जोड़ता है। यहाँ ओक के घने वृक्षो और शंकुवृक्ष की घनी वनस्पतियों से ढलती हुई ढलानों और घास के मैदानों के साथ, इस हिल स्टेशन की सुंदरता का वर्णन करना बेहद कठिन है। 

औली हिल स्टेशन उत्तर भारत में उत्तराखंड राज्य के चमोली जिले का एक हिस्सा है, और यह भारत में स्कीइंग के लिए सबसे अच्छे स्थलों में से एक के रूप में प्रसिद्ध है। औली भारत में सबसे खूबसूरत हिल स्टेशनों के सर्कल के बीच में यह एक नए प्रवेश द्वार के रूप में माना जाता है, औली तेजी से हनीमून, शांति चाहने वालों, प्रकृति प्रेमियों और रोमांच प्रेमियों का ध्यान अपनी और खींच रहा है। इसकी ऊंचाई समुद्र तल से 2,519 मीटर से लेकर 3,050 मीटर तक है।

औली की स्थानीय बोली ‘बुग्याल’ भाषा है। वैसे औली का शाब्दिक अर्थ घास का मैदान है, और इसीलिये यहाँ गर्मियों और वसंत के मौसम के दौरान यह पर्यटको के लिये पसंदीता जगह में से एक है। प्राकृतिक लिबास को ओढ़े हुऐ घास के मैदान, हिमालय की चोटियों के मनोरम दृश्य, हरी भरी जंगली वनस्पतियों और जंगली फूलों से लदे हुऐ रास्ते औली को एक रंगीन रूप प्रदान करते हैं। 

उत्तराखंड सरकार का एक उद्यम गढ़वाल मंडल विकास निगम (GMVN) औली में पर्यटन की देखभाल के लिए एक अधिकृत निकाय है। यहाँ GMVN न केवल पर्यटकों के लिए आवास की सुविधा को प्रदान करता है, बल्कि साथ ही उन यात्रियों के लिए स्कीइंग पाठ्यक्रम की सुविधा भी प्रदान करता है, जो स्कीइंग गतिविधि में अपना हाथ आजमाना पसंद करते हैं।

औली कई प्राकृतिक आकर्षणों का घर होने के अलावा, यह पर्यटकों की मौज-मस्ती और साहसिक गतिविधियों में शामिल होने के पर्याप्त अवसरो को प्रदान करता हैं। यहाँ स्कीइंग के अलावा अन्य कई मनोरंजक गतिविधियाँ भी हैं, जो आपको औली के पूरे दौरे में व्यस्त रखेंगी। वैली ऑफ फ्लावर्स, नंदादेवी अभयारण्य और गुरसून बुग्याल जैसे आस-पास के स्थानों पर घूमना यात्रियों के लिये विशेष रूप से रुचिकर होता हैं। इसी प्रकार औली से ट्रेकिंग अभियान तो पर्यटकों के जीवन को आनंद से भर देता हैं।

औली हिल स्टेशन के प्रमुख आकर्षण केंद्र

  • हनुमान मंदिर

यहाँ भगवान हनुमान को समर्पित एक छोटा सा मंदिर है। प्रचीन धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, इस मंदिर का निर्माण उस जगह पर किया गया है, जहां भगवान राम के भाई लक्ष्मण के लिए संजीवनी (जीवन को पुनर्जीवित करने वाली जड़ी बूटी) लाने के लिए हनुमान जी ने लंका से द्रोणागिरी पर्वत तक जाने के दौरान आराम किया था।

  • त्रिशूल चोटी

समुद्र तल से लगभग 23,490 फीट की ऊँचाई पर स्थित, त्रिशूल चोटी एक प्रकार से प्राकृतिक का चमत्कार है, जो आपको अचम्बभित कर देता है, और उन दर्श्यो को कैमरे में कैद करने के लिये विवश कर देता है। यह औली में स्कीइंग का आनंद लेने के लिए सबसे प्रसिद्ध स्थानों में से एक है। यहाँ त्रिशूल चोटी के आधार पर स्थित रूपकुंड नामक एक झील भी है।

औली उत्तराखंड हिल स्टेशन

  • कृत्रिम झील (Artificial Lake)

औली में क्लिफ टॉप क्लब होटल के निकट में स्थित यह दुनिया की सबसे ऊंची मानव निर्मित झील है। यह कृत्रिम झील सरकार द्वारा नए स्की ढलानों पर कृत्रिम बर्फ बनाने के उद्देश्य से विकसित की गई है, ताकि यहाँ पर पर्यटक एक विस्तारित स्कीइंग सीजन का भरपूर आनंद ले सकें।

  • नंदा देवी चोटी

यह पर्वत चोटी, देवी नंदा (Bliss – Giving Goddess) के नाम पर है। नंदा देवी चोटी भारत का दूसरा सबसे ऊंचा पर्वत शिखर है। 7,817 मीटर की ऊँचाई के साथ, यह पहाड़ वास्तव में पर्यटकों के लिये एक अनुपम दृश्य को प्रदान करता है। नंदा देवी पर्वत शिखर गढ़वाल हिमालयन रेंज का एक हिस्सा है, और नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान से घिरा हुआ है, जो यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल भी है।

  • छत्तरकुंड (Chattarkund)

औली के आसपास स्थित विभिन्न झीलों में से, छत्तरकुंड झील इस क्षेत्र की सबसे प्रसिद्ध मीठे पानी की झीलों में से एक है। ओक और शंकुधारी जंगलों से घिरी हुई यह झील आराम करने के लिए सुरम्य स्थान प्रदान करती है।

  • गुरसो बुग्याल

औली से 3 किमी की दूरी पर स्थित, गुरसो बुग्याल एक सुंदर घास का मैदान है, जो वसंत के दौरान एक आंख को शीतलता प्रदान करने वाली हरी सुंदरता में बदल जाता है, और सर्दियों के दौरान एक सफेद चादर का रूप ओढ़े लेता है।

औली उत्तराखंड हिल स्टेशन

  • नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान

औली से लगभग 36 किमी की दूरी पर स्थित, नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान है, जो इस हिल स्टेशन पर जाने वाले यात्रियों के लिए एक महत्वपूर्ण स्थान है। नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान को यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल में शामिल किया गया है।

औली में गतिविधियाँ

औली अपने आसपास के कई आकर्षणों के अलावा, यह यात्रियों को कई रोमांचक गतिविधियों की पेशकश भी करता है, विशेष रूप से साहसिक गतिविधियों का आनंद लेने के लिए। औली में अधिकांश गतिविधियां उत्साह से भरी हुई हैं जो आपके दिल की धड़कन को बढ़ा सकती हैं। औली में करने के लिए सबसे प्रसिद्ध गतिविधियों कुछ इसप्रकार हैं – 

  • स्कीइंग

गढ़वाल हिमालयन रेंज के बर्फ से ढके पहाड़ों से घिरा, औली स्कीइंग प्रेमियों के लिए एक स्वर्ग की तरह है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप एक शुरुआती या एक अनुभवी स्कीयर हैं, औली में स्कीइंग एक गतिविधि है जो दुनिया भर से पर्यटकों को मोहित करती है।

  • केबल कार की सवारी

औली में केबल कार की सवारी का आनंद लेते हुए पर्यटक जहाँ एक तरफ घाटी और दूसरी तरफ बर्फ की चोटियों के लुभावने दृश्यों का आनंद लेते है। इस हिल स्टेशन में एशिया की सबसे लंबी केबल कार है, जिसकी लम्बाई 4 किमी है। इसके द्वारा पर्यटक नंदा देवी, त्रिशूल चोटी, द्रोण पर्वत और छंग भंग की सुंदरता का आनंद ले सकते हैं।

  • ट्रेकिंग

यहाँ पर पर्यटकों के लिये केवल स्कीइंग ही नहीं है, इसके आलावा भी यहाँ ऐसे बहुत से स्थल है, जो चमोली जिले के इस छोटे से स्वर्ग में रोमांच का अनुभव कराते है। औली कई ट्रेकिंग ट्रेल्स के लिए भी उत्कृष्ट आधार को प्रदान करता है। औली में लोकप्रिय ट्रेकिंग ट्रेल्स के आलावा औली – गोर्सन (7 किमी), गोर्सन – तालि (6 किमी), टाली – कुआरी पास (11 किमी), कुआरी पास – खुर्ला (12 किमी), और खुर्ला – तपोवन (9 किमी) भी हैं।

  • खरीदारी के लिये बाजार 

वैसे तो औली के बर्फीले जंगल में खरीदारी के लिए कोई जगह नहीं है। लेकिन पर्यटक औली से लगभग 15 किमी दूर जोशीमठ में एक व्यस्त बाजार में खरीदारी का आनंद ले सकते हैं। यहाँ पर्यटक ऊनी टोपी, शॉल, कंबल, सुंदर उपहार आइटम और स्मृति चिन्ह जैसे सामान को खरीद सकते हैं।

औली होटल्स की जानकारी

अपने ऊंचे स्थान के बावजूद, औली में होटलों की कोई कमी नहीं है, जिसमें लक्जरी रिसॉर्ट से लेकर बजट होटल तक शामिल हैं। जिसमे से पर्यटक आसानी से एक आवास का चयन कर सकते हैं, जो पूरी तरह से उनकी आवश्यकताओं और स्वाद के अनुरूप हो। यहाँ निजी संस्थाओं द्वारा प्रस्तावित आवास सुविधाओं की एक बड़ी संख्या होने के अलावा, औली में जीएमवीएन के स्वामित्व और रखरखाव के लिए उत्कृष्ट पर्यटक गेस्टहाउस भी हैं।

औली हिल स्टेशन के अधिकांश होटल आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित हैं। चाहे गर्मी हो या सर्दी, उत्तराखंड के इस देशी हिल स्टेशन की बढ़ती लोकप्रियता के कारण ही औली में होटल बुकिंग के लिए हमेशा भीड़ रहती है। यहाँ पर आप अपने को प्रकृति के करीब महसूस कर सकते है, तथा इसके साथ औली होटलों द्वारा दी जाने वाली आराम की भावना को भी प्राप्त कर सकते है। कुछ प्रसिद्ध रिजॉर्ट जैसे – क्लिफ टॉप क्लब, जीएमवीएन स्कीइंग एंड टूरिस्ट रिज़ॉर्ट, द रॉयल विलेज और देवी दर्शन लॉज हैं।

औली जाने का सबसे अच्छा समय

उत्तराखंड का सुरम्य हिल स्टेशन, औली, एक गंतव्य स्थल है। यदि आप अत्यधिक सर्द परिस्थितियों में बर्फ से ढकी ढलानों में नीचे सरकना पसंद करते हैं, तो सर्दियों (दिसंबर से फरवरी) औली जाने के लिए सबसे अच्छा समय है। यह भारत में सबसे अच्छे स्कीइंग स्थलों में से एक है।

जो लोग प्रकृति की सुंदरता और शांति में फिर से जीवंत होना चाहते हैं, उनके लिए गर्मी (मार्च से जून) औली जाने का सबसे अच्छा समय है। सुखद मौसम की स्थिति, आसपास की सुंदरता और अद्भुत ट्रेकिंग और लंबी पैदल यात्रा के स्पष्ट दृश्य औली को मैदानी इलाकों की उमस भरी गर्मी को मात देने के लिए एक आदर्श स्थान बनाते हैं।

औली उत्तराखंड हिल स्टेशन

How to Reach Auli?

  • हवाईजहाज से
औली से निकटतम हवाई अड्डा देहरादून में जॉली ग्रांट घरेलू हवाई अड्डा है, और यह हिल स्टेशन से लगभग 279 किमी दूर स्थित है। हवाई अड्डे से, यात्री औली पहुंचने के लिए टैक्सी को ले सकते हैं। दिल्ली अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से जॉली ग्रांट हवाई अड्डे के लिए दैनिक आधार पर उड़ानें उपलब्ध हैं।
  • रेल द्वारा
हरिद्वार, औली से लगभग 280 किमी की दूरी पर स्थित निकटतम प्रमुख रेल स्टेशन है, और यह पूरे देश के विभिन्न प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है। अगला निकटतम रेलवे स्टेशन देहरादून में है, और यह भी भारत के सभी प्रमुख शहरों से भी जुड़ा हुआ है। 
पर्यटक आसानी से जोशीमठ से सड़क के माध्यम से औली तक पहुंच सकते हैं, यह सबसे निकटतम शहर है, जो हिल स्टेशन से लगभग 15 किमी की दूरी पर स्थित है। जोशीमठ से नियमित टैक्सी और बस सेवा भी औली के लिये उपलब्ध है।
HINDI WEB BOOK

HINDI WEB BOOK

हिंदी वेब बुक अपने प्रिय पाठकों को बहुमूल्य जानकारियाँ उपलब्ध कराने के लिये समर्पित है, हम अपने इस कार्य में उनके समर्थन और सुझाव की अपेक्षा करते है, ताकि हमारा यह प्रयास और बेहतर हो सके।

Leave a Comment

View More Post