मौसमी ठंड से बचने के लिये उपयोगी घरेलु उपचार क्या है? - HINDI WEB BOOK

मौसमी ठंड से बचने के लिये उपयोगी घरेलु उपचार क्या है?

मौसमी ठंड से बचने के लिये उपयोगी घरेलु उपचार क्या है?

Facebook
WhatsApp
Telegram

मौसमी ठंड से बचने के लिये उपयोगी घरेलु उपचार क्या है? दोस्तों बदलता मौसम हमारे शरीर पर भी प्रभाव डालता है, हर मौसम में कुछ न कुछ छोटी मोटी बीमारिया हो जाती है। जिनका हम घर पर मौजूद चीजों के द्वारा उनका सफलता पूर्वक इलाज कर सकते है और उनका कोई साईड इफेक्ट भी नहीं होता है। जैसे ही सर्दियों की शुरुवात होने लगती है उसी के साथ में सर्दी-खांसी (Cold and Cough) और जुकाम की समस्या शुरू हो जाती है। जिसके बढ़ने से गले में दर्द और फ्लू (Flu) की दिक्कत भी शुरू हो जाती है। क्योकि खांसी-जुकाम इस तरह की समस्याऐ हर बदलते मौसम के साथ आमतौर पर होने वाली समस्या है।  

effective-home-remedies-for-seasonal-cold

वैसे तो मौसमी ठंड में सर्दी जुकाम जैसी समस्या को ठीक करने का कोई सटीक उपाय नहीं है। फिर भी हम इसका इलाज इसके लक्षणों के अनुसार कर सकते है। सर्दी जुकाम एक तरह का संक्रमण होता है, जिसका कारण कई तरह के वाइरस हो सकते है। सर्दी जुकाम जैसी समस्याओ के साथ कुछ सामान्य समस्या जैसे सिरदर्द, नाक बहना, बलगम, तेज़ बुखार, आँखों में खुजली होना, गले में खराशे, बदन दर्द आदि भो उत्पन्न हो जाती हैं। इसलिये यह ज़रूरी है कि समय रहते हम सर्दी जुकाम का इलाज जल्द से जल्द कर लें क्योंकि इसके बढ़ने से और भी कई तरह के संक्रमण पैदा हो सकते हैं जैसे गला ख़राब, ब्रोंकाइटिस और निमोनिया आदि। सर्दी जुकाम के लक्षणों को ठीक करने के लिए आप कई प्रकार के असरदार और प्रभावी घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल कर सकते हैं।

मौसमी ठंड से बचने के लिये उपयोगी घरेलु उपचार क्या है? What are the effective home remedies to avoid seasonal cold?  

हालांकि सर्दी-जुकाम कोई गंभीर बीमारी नहीं है, लेकिन इस बीमारी में दवाईयों का असर भी कम होता है। इसलिये सबसे अच्छा होता है घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल करना। घर के देसी नुस्खों से आप आसानी से सर्दी जुकाम को काबू कर सकते है।

  • शहद, नींबू और इलायची का मिश्रण

आधा चम्मच शहद में एक चुटकी इलायची का पाउडर और उसमे कुछ बूंदे नीबू के रस की डाले। अब इस सिरप का प्रयोग दिन में 2 बार करें, इससे आपको खांसी-जुकाम से काफी राहत मिलेगी।

  • गर्म पानी

जितना भी हो सके अधिक से अधिक गर्म पानी को पिएं, इससे आपके गले में जमा हुआ कफ खुलने लगेगा और काफी राहत महसूस करेंगे।

  • हल्दी वाला दूध

हल्दी वाला दूध सर्दी और जुकाम की समस्या में काफी असरदार होता है क्योंकि हल्दी एक एंटी ऑक्सीडेंट होती हैं, जो बैक्ट्रिया से हमारी रक्षा करती हैं। इसलिये रात में सोने से पहले हल्दी वाला दूध पीने से तेजी से आराम पहुचता है।

  • गर्म पानी और नमक से गरारे

एक गिलास गर्म पानी में आधा चम्मच नमक मिला कर गरारे करने से खांसी-जुकाम में काफी राहत मिलती है। इससे गले को भी आराम मिलता है।

effective-home-remedies-for-seasonal-cold

  • शहद और ब्रैंडी

ब्रैंडी तो पहले ही शरीर गर्म करने के लिए जानी जाती है। इसके साथ शहद मिलाकर लेने से यह जुकाम पर काफी असरदार प्रभाव डालती है।

  • मसालेदार चाय

एक चौथाई कप धनिये के बीज, आधा चम्मच जीरा और सौफ के बीज, एक चौथाई चम्मच मेथी के बीज, एक कप पानी, डेढ़ चम्मच मिश्री और और दो चम्मच दूध। इन सब को मिलकर चाय बनाकर पिने से काफी राहत मिलती है।

  • आंवला का प्रयोग 

आंवला में काफी मात्रा में विटामिन-सी पाया जाता है जो शरीर में खून के संचार को बेहतर करता है और इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट्स भी होते हैं जो आपकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता में इजाफा करता है।

  • अदरक-तुलसी

अदरक के रस में तुलसी मिलाएं और इसका सेवन करें। इसमें शहद भी मिलाया जा सकता है।

  • अलसी का प्रयोग 

अलसी के बीजों को मोटा होने तक उबालें और उसमें नीबू का रस और शहद भी मिलाएं और इसका सेवन करें। इससे जुकाम और खांसी से आराम मिलेगा।

  • अदरक और नमक

अदरक को छोटे टुकड़ों में काटें और उसमें नमक मिलाएं फिर इसे खा लें। इसके रस से आपका गला खुल जाएगा और नमक से कीटाणु मर जाएंगे।

  • लहसुन का प्रयोग 

लहसुन को घी में भून लें और गर्म-गर्म ही खा लें। यह स्वाद में खराब हो सकता है लेकिन स्वास्थ्य के लिए एकदम शानदार है।

  • गेहूं की भूसी

जुकाम और खांसी के उपचार के लिए आप गेहूं की भूसी का भी प्रयोग कर सकते हैं। 10 ग्राम गेहूं की भूसी, पांच लौंग और कुछ नमक लेकर पानी में मिलाकर इसे उबाल लें और इसका काढ़ा बनाएं। इसका एक कप काढ़ा पीने से आपको तुरंत आराम मिलेगा। 

effective-home-remedies-for-seasonal-cold

  • अनार का रस

अनार के जूस में थोडा अदरक और पिपली का पाउडर डालने से खांसी को आराम मिलता है।

  • काली मिर्च

अगर खांसी के साथ बलगम भी है तो आधा चम्मच काली मिर्च को देसी घी के साथ मिलाकर खाएं। आराम मिलेगा।

  • गाजर का जूस

सुनने में थोड़ा अटपटा जरूर लग सकता है लेकिन खांसी-जुकाम में गाजर का जूस काफी फायदेमंद होता है लेकिन बर्फ के साथ इसका सेवन न करें।

  • प्याज का सेवन 

सबसे पहले एक प्याज को छील लें और फिर उसे छोटे छोटे टुकड़ों में काट लें। अब उसमे शहद को डालें। अब इस मिश्रण को एक बोतल में बंद करके रातभर के लिए ऐसे ही छोड़ दें। रोज़ सुबह एक या दो शहद से मिश्रित प्याज के टुकड़े खाएं।

  • मुलेन की चाय 

मुलेन चाय बनाने के लिए, मुट्ठीभर मुलेन की पत्तियों को एक कप पानी के बर्तन में डाल दें। फिर इसे पांच से दस मिनट के लिए उबलने को रख दें। उबलने के बाद उसे छान लें और अब उसमे शहद मिलाएं और पी जाएँ। मुलेन चाय का इस्तेमाल पूरे दिन में दो या तीन बार ज़रूर करें।

  • दालचीनी का प्रयोग 

आधा चम्मच दालचीनी पाउडर को शहद के साथ मिलाकर खाये। इस प्रक्रिया को पूरे दिन में दो बार ज़रूर दोहराएं।

  • सेंधा नमक का प्रयोग 

सबसे पहले अपने बाथ टब या बाल्टी को गर्म पानी से भर दें। पानी को उतना गर्म रखें जितना आप सहन कर सकें। अब उसमे सेंधा नमक मिलाकर अच्छे से पानी को चला दें। अब इस बाथ टब में 20 मिनट के लिए बैठ जाएँ या बाल्टी में अपने पैरों को डाल दें। जब तक आपको जुकाम के लक्षणों से आराम नहीं मिल जाता तब तक इसका उपयोग एक या दो दिन छोड़कर करें।

  • गुड़ का प्रयोग 

गुड़ का प्रयोग इस समस्या में काफी कारगर होता है इसलिये रात को सोने से पहले आप कुछ दिनो तक एक गुड़ का टुकड़ा खाकर जरूर सोएँ। इससे आपके शरीर का तापमान गर्म रहेगा और आपको सर्दी की समस्या से भी राहत मिलेगी।

  • किशमिश का प्रयोग 

किशमिश को तवे पर थोड़ा नमक डालकर सेंके। ठंडा होने के बाद इसका सेवन करें। इसके प्रयोग से ना केवल आपका वायरल इन्फेक्शन ठीक होगा बल्कि गले को भी आराम मिलेगा।

अंत में निष्कर्ष 

हमनें इस लेख के माध्यम से आपको “मौसमी ठंड से बचने के लिये उपयोगी घरेलु उपचार क्या है?” के बारें में सम्पूर्ण जानकारी देने प्रयास किया गया है, हमे पूरी उम्मीद है यह जानकारी आपके लिये काफी उपयोगी साबित होगी यदि इस आर्टिकल से सम्बन्धित आपके पास कोई सुझाव हो तो कमेंट बाक्स के माध्यम से आप उसे हम तक पंहुचा सकते है। आप इस जानकारी को अपने दोस्तों और सोशल मिडिया पर जरूर शेयर करे। आपका धन्यवाद!

HINDI WEB BOOK

HINDI WEB BOOK

हिंदी वेब बुक अपने प्रिय पाठकों को बहुमूल्य जानकारियाँ उपलब्ध कराने के लिये समर्पित है, हम अपने इस कार्य में उनके समर्थन और सुझाव की अपेक्षा करते है, ताकि हमारा यह प्रयास और बेहतर हो सके।

Leave a Comment

View More Post