Vastu Tips for Wall Clock: सफलता पाने के लिये घडी को कहाँ लगाये? - HINDI WEB BOOK

Vastu Tips for Wall Clock: सफलता पाने के लिये घडी को कहाँ लगाये?

Vastu Tips for Wall Clock: सफलता पाने के लिये घडी को कहाँ लगाये?

Facebook
WhatsApp
Telegram

Vastu Tips for Wall Clock: सफलता पाने के लिये घडी को कहाँ लगाये? मनुष्य का जीवन समय से बंधा हुआ है हमारे सभी काम समय के अधीन होते है। यही कारण है की समय देखने का यंत्र घड़ी अब हमारे जीवन का एक अभिन्न अंग बन चूका है। दैनिक कार्यों को समय पर पूरा करने के लिए हमे घड़ी को हर बार देखने की प्रवृत्ति होती है। 

जिसके कारण घडी हमारे जीवन पर प्रभाव डालने लगती है। एक घर में घड़ी की नियुक्ति वास्तु शास्त्र के अधीन होती है क्योकि यह उस घर में रहने वाले निवासियों के जीवन को प्रभावित करती है। प्रकर्ति में दो प्रकार की ऊर्जा होती है सकारात्मक और नकारात्मक, इस बात को आधुनिक विज्ञानं भी मानता है। वास्तु ऐसा विज्ञानं है जिसके द्वारा हम सकारात्मक ऊर्जा को एक्टिवेट कर सकते है।   

vastu tips for wall clock

घर में दीवार पर घडी को कहाँ पर लटकाएँ इसे सही रूप से जानने के लिये हमे घडी के लिये वास्तु को समझना चाहिये। क्योकि समय हमारे जीवन का एक अभिन्न अंग है, इसलिये घडी का महत्व काफी बढ़ जाता है। हर घर में दीवार घड़ियाँ एक महत्वपूर्ण वस्तु होती हैं। अधिकतर लोग उन्हें अपनी सुविधा के अनुसार जहां पर भी ठीक लगे, उन्हें दीवार पर लटका देते हैं। 

जो घडी के सही दिशा में न होने के कारण जीवन में नकारत्मकता को आकर्षित करने लगता है। यदि हम घडी को सही जगह पर रखते हैं तो उसके द्वारा हम अपने जीवन में कई सकारात्मक बदलाव को ला सकते है। इसलिये यहां इस लेख “Vastu Tips for Wall Clock: सफलता पाने के लिये घडी को कहाँ लगाये” के माध्यम से आपको वास्तु के अनुसार घडी को कहां और किस दिशा में लगाना चाहिए उसे बताने का प्रयास करेंगे।
 

Vastu Tips for Wall Clock: सफलता पाने के लिये घडी को कहाँ लगाये?  

हम सभी अधिकांश तौर पर किसी घड़ी को दीवार पर लटकाते समय बहुत ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं। हमारा ध्यान केवल इस बात पर ही रहता है कि हम आसानी से समय को कैसे जान सकते हैं, इसलिये हम अपनी सुविधा के अनुसार उसे कही पर भी लटका देते है। लेकिन दीवार घड़ी को लटकाने से पहले हमे कुछ विशेष सुझावों को ध्यान में रखना चाहिये जो बहुत महत्वपूर्ण है। वास्तु शास्त्र को ध्यान में रखते हुए दीवार की घड़ियाँ लटकाने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है। घड़ी को गलत दिशा में लगाने से निश्चित रूप से नकारात्मक ऊर्जा एक्टिवेट होने लगती है जिससे गलत परिणाम मिलने लगते है।

  • वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर की दक्षिण दिशा में दीवार पर कभी घड़ी को नहीं लगानी चाहिए।
  • घडी को कभी भी दरवाजे पर नहीं लटकाया जाना चाहिए।
  • वास्तु शास्त्र का सुझाव है कि घड़ी को पूर्व, पश्चिम या उत्तर दिशा में दीवार पर टांगना चाहिए ताकि घर में सकारात्मकता बनी रहे।
  • घड़ी लगाने के लिये आदर्श स्थान उत्तर और पूर्व दिशा हैं। क्योकि धन का देवता कुबेर, उत्तर दिशा पर शासन करता है और देवताओं का राजा इंद्र पूर्व दिशा का प्रमुख माना जाता है।
  • उत्तर में घड़ी लटकाने से माना जाता है कि यह धन और समृद्धि को आकर्षित करती है।
  • वास्तु के अनुसार, अगर दीवार घड़ी को बिस्तर से दूर रखना चाहिये तो यह अच्छा होता है क्योंकि बेडरूम वह जगह होती है, जहां हमारा अधिकतम समय व्यतीत होता है।
  • बेडरूम में दीवार घड़ी को लटकाने के लिए सबसे अच्छी जगह पूर्व दिशा की ओर होती है।
  • एक नियम के रूप में यदि बेडरूम के लिए पूर्व उपलब्ध नहीं है, तो उसके लिये आप उत्तर दिशा को भी चुन सकते हैं।

vastu tips for wall clock

  • यदि कोई अपना सिर दक्षिण दिशा की ओर करके सोता है, तो दीवार की घड़ी को उत्तर दिशा में दीवार पर ही लगाना चाहिए।
  • याद रखें, दीवार की घड़ियां या कैलेंडर हमेशा भवन के अंदर रखे जाने चाहिए और काम करने की स्थिति में रहना चाहिए। कोई भी घड़ी गैर-कार्यशील स्थिति में नहीं होनी चाहिए।
  • यदि आपके पास एक घड़ी है जो काम नहीं कर रही है, तो उसे तुरंत हटा देना चाहिये या उसकी मरम्मत करानी चाहिये। ख़राब घडी को घर में ना रखे।

 

  • कोई भी घड़ी वास्तविक समय से पीछे नहीं होनी चाहिए, लेकिन यदि संभव हो, तो उन्हें सही समय से एक-दो मिनट आगे होना चाहिए ताकि देर होने की संभावना न हो।
  • घड़ी का शीशा अखंड होना चाहिए और कभी फटा या टूटा नहीं होना चाहिए।
  • घर के ड्राइंग रूम में चकोर घडी को और बेडरूम में गोल घडी को लगाना शुभ माना जाता है।

  • वास्तु के अनुसार घर में मधुर संगीत को देने वाली घडी लगाना चाहिये इसे शुभ माना जाता है क्योकि यह तरक्की को आकर्षित करती है। 
  • कभी भोई घडी को तकिये के नीचे रखकर नहीं सोना चाहिये इससे विचारो पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।  
  • घड़ी को समय-समय पर साफ करते रहना चाहिए।
  • वास्तु के अनुसार, यदि आपके पास पेंडुलम वाली घड़ी है तो यह सकारात्मक ध्वनि कंपन को उत्पन्न करता है।
  • पूर्व दिशा में पेंडुलम दीवार घड़ी को रखना अच्छा माना जाता है।
  • कभी भी सही समय के पीछे घड़ी को न रखें।
  • नकारात्मक ऊर्जा या अकेलेपन को दर्शाने वाली घड़ी को लगाने से बचें।
  • सुनिश्चित करें कि आप नियमित रूप से घड़ियों को साफ करते रहे हैं।
  • आप पश्चिम में भी घड़ी को रख सकते हैं, लेकिन यह एक अंतिम विकल्प होना चाहिए। 

यदि हम इन वास्तु शास्त्र के नियमो का पालन करे तो निश्चित तौर पर सकारात्मक ऊर्जा को प्रभावित किया जा सकता है। वास्तु शास्त्र भी एक वैज्ञानिक विधि है जो दिशाओ में उपस्थित रहने वाली पॉजिटिव और निगेटिव ऊर्जा का ज्ञान करता है। इसलिये हमने अपने लेख “Vastu Tips for Wall Clock: सफलता पाने के लिये घडी को कहाँ लगाये” के द्वारा जानकारी देने प्रयास किया है जिसके अनुसार हम अपने जीवन में थोड़ा परिवर्तन करके काफी लाभ प्राप्त कर सकते है। 

HINDI WEB BOOK

HINDI WEB BOOK

हिंदी वेब बुक अपने प्रिय पाठकों को बहुमूल्य जानकारियाँ उपलब्ध कराने के लिये समर्पित है, हम अपने इस कार्य में उनके समर्थन और सुझाव की अपेक्षा करते है, ताकि हमारा यह प्रयास और बेहतर हो सके।

2 thoughts on “Vastu Tips for Wall Clock: सफलता पाने के लिये घडी को कहाँ लगाये?”

  1. घड़ी के बारे में वास्तु शास्त्र के हिसाब से विस्तृत एवं उपयोगी जानकारी देने के लिए धन्यवाद।

    Reply

Leave a Comment

View More Post