आयुष्मान भारत योजना क्या है और इसका लाभ कैसे लें। - HINDI WEB BOOK

आयुष्मान भारत योजना क्या है और इसका लाभ कैसे लें।

आयुष्मान भारत योजना क्या है और इसका लाभ कैसे लें।

Facebook
WhatsApp
Telegram

आयुष्मान भारत योजना जिसे प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना भी कहते है, भारत सरकार द्वारा जारी एक स्वास्थ्य सम्बन्धी योजना है, इस योजना का मुख्य उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर लोगों खासकर के बीपीएल कार्ड धारको को स्वास्थ्य बीमा का लाभ उपलब्ध कराना है।

Ayushman Bharat Yojna का लक्ष्य साधारण जनमानस को अच्छी स्वास्थ सुविधाये उपलब्ध कराना है, इस योजना को ‘मोदीकेयर’ के नाम से भी जाना जाता है। सच कहा जाए तो ”आयुष्मान भारत” योजना अब निजी अस्पतालों और बीमा कंपनियों के लिए एक संजीवनी बन चुकी है। प्रख्यात अमेरिकी उद्योगपति बिल गेट्‍स ने भी भारत सरकार द्वारा संचालित इस आयुष्मान भारत योजना की काफी तारीफ की है। 

आयुष्मान भारत योजना क्या है
 

आयुष्मान भारत योजना क्या है – What is Ayushman Bharat Scheme in Hindi 

आयुष्मान भारत योजना, भारत सरकार की साधारण जनमानस के स्वास्थ से सम्बंधित योजना है, इस योजना के द्वारा प्रत्येक वर्ष पांच लाख परिवारों को फायदा पहुचाने का लक्ष्य रखा गया है, आयुष्मान भारत योजना मुख्य रूप से ट्रस्ट मॉडल या इंश्योरेंस मॉडल के आधार पर कार्य करेगी और पूर्ण रूप से कैशलेस योजना होगी, इस योजना के अन्तर्गत आने वाले सभी परिवारो को 5 लाख रुपये तक की कैशलैस स्वास्थ बीमा को उपलब्ध कराया जा रहा है।

एक आंकड़े के अनुसार लगभग 10 करोड़ बीपीएल कार्ड धारक परिवारो समेत लगभग 50 करोड़ से अधिक लोग इस योजना का प्रत्यक्ष रूप से लाभ उठाने की दिशा की ओर अग्रसर हैं। इसके अतिरिक्त बाकी बची हुई आबादी को भी इस योजना के तहत शामिल किये जाने की योजना है।

आयुष्मान भारत योजना की घोषणा प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले से 14 अप्रैल 2018 को बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की जयन्ती के अवसर पर की थी। लेकिन इस योजना को 25 सितंबर 2018 को पंडित दीन दयाल उपाध्याय की जन्मतिथि के अवसर पर पूरे देश में लागू कर दिया गया था। इस योजना में प्रमुख रूप से दो तत्व शामिल हैं:- एक है, राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना, जो अब आयुष्मान भारत योजना में बदल चुकी है, जिसके तहत सरकार 10 करोड़ गरीब परिवारों के लगभग 50 करोड़ लाभार्थियों को इस योजना में कवर कर रही है। 

दूसरा तत्व है, कल्याण केंद्र, आयुष्मान भारत योजना के तहत स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र में प्रदान की जाने वाली सेवाओं को भी शामिल किया गया है: जैसे, गर्भावस्था देखभाल और मातृ स्वास्थ्य सेवाएं, नवजात और शिशु स्वास्थ्य सेवाएं, बाल स्वास्थ्य, जीर्ण संक्रामक रोग, गैर संक्रामक रोग, मानसिक बीमारी का प्रबंधन, दांतों की देखभाल, बुजुर्ग के लिए आपातकालीन चिकित्सा, आदि।

आयुष्मान भारत योजना प्रत्येक परिवार के लिये, हर वर्ष 5 लाख रुपये के मुल्य के लिए माध्यमिक और तृतीयक स्तर के अस्पताल में देखभाल के लिये कवरेज की सुविधा प्रदान करती है। इस योजना का लाभ पूरे देश में कहीं भी और किसी भी पैनल में शामिल निजी या सरकारी अस्पतालों में लिया जा सकता हैं। इस योजना के अंतर्गत आने वाले सभी लाभार्थीयो को देश भर में किसी भी सार्वजनिक या निजी अस्पताल से कैशलेस सुविधा का लाभ लेने की अनुमति है।

आयुष्मान भारत योजना कैसे काम करती है – How Ayushman Bharat Scheme Works

वर्ल्ड बैंक द्वारा जारी की गई एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत के हर वर्ष लगभग पांच करोड़ से अधिक लोग गरीबी की रेखा के निचे आ जाते है, लोगो की इस निर्धनता का एक प्रमुख कारण उनके स्वास्थ्य से सम्बंधित समस्या है। जब भी किसी गरीब परिवार के व्यक्ति का स्वास्थ्य ख़राब होता है वह सबसे पहले सरकारी अस्पताल में ही जाता है, लेकिन उसकी स्थिति गंभीर होनें के बाद उसे मजबूरी में निजी अस्पताल की शरण में जाना पड़ता है। एक प्राइवेट अस्पताल में इलाज करानें से उसे अपनी जमीन तथा अन्य सम्पतियो को बेचने पर मजबूर होना पड़ता है।

भारत में बढ़ती इस निर्धनता और उसके पीछे के कारण को समझते हुऐ प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी नें पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी के जन्मदिन के अवसर पर आयुष्मान भारत योजना का शुभारम्भ 25 सितंबर 2018 को किया। लेकिन इस योजना के लिये परिवारों के चयन का कार्य स्वंत्रता दिवस (15 अगस्त) से शुरू चुका था। आयुष्मान भारत योजना केंद्र सरकार की एक महत्वकांक्षी योजना है – यह योजना मुख्य रूप से दो भागो में कार्य करती है, जो इस प्रकार है-

  • स्वास्थ्य एवं आरोग्य केंद्र (प्राथमिक चिकित्सा) – Health & Wellness Center (First Aid)

प्राथमिक चिकित्सा के तहत पुरे देश में 1.5 लाख हेल्थ ऐंड वेलनेस सेंटर्स को खोलनें का लक्ष्य रखा गया है। इन सभी सेंटर्स में प्राथमिक चिकित्सा के तहत मामूली चोटे, बुखार, खांसी-जुकाम इत्यादि बीमारियों का मुफ्त में ईलाज किया जायेगा।

  • नेशनल हेल्थ प्रोटेक्शन स्कीम – National Health Protection Scheme

इस स्कीम के द्वारा देश की करीब 50 करोड़ की जनसख्या को मुफ्त में स्वास्थ्य बीमा की सुविधा को प्रदान किया जायेगा, जिसके अंतर्गत छोटी बड़ी लगभग 1,350 बीमारियों का मुफ्त इलाज किया जायेगा तथा इन इलाज पर 5 लाख रु० तक का सारा खर्च भारत सरकार द्वारा वहन किया जायेगा। इसके अतिरिक्त यदि कोई मरीज अस्पताल में भर्ती होता है, तो उसके भर्ती होनें के तीन दिन पहले से लेकर अस्पताल से छुट्टी मिलनें के 15 दिन बाद तक का सारा खर्च इस योजना के अंतर्गत कवर किया जायेगा। इस योजना का पूरा लाभ लेने के लिए मरीज का किसी भी अस्पताल में भर्ती होना अनिवार्य है।

इस स्कीम के तहत सबसे पहले व्यक्तियों के कार्ड बनाये जायेंगे, तथा इसके लिये लाभार्थी की पहचान करने के लिए मोबाइल एप्लीकेशंस की सहायता ली जाएगी, तथा इसके साथ ही सभी राज्यो में एक स्टेट हेल्थ एजेंसी का निर्माण किया जायेगा, जिसके माध्यम से समय समय पर इस योजना की प्रगति की समीक्षा की जाएगी।

राज्यों में बननें वाले वेलनेस सेंटर – List of Ayushman Bharat Center

 

क्रम स० राज्य का नाम सेंटर्स
1. छत्तीसगढ़ 1000
2. गुजरात 1185
3. राजस्थान 505
4. झारखंड 646
5. मध्य प्रदेश 700
6. महाराष्ट्र 1450
7. पंजाब 800
8. बिहार 643
9. हरियाणा 255

आयुष्मान भारत योजना के तहत लाभार्थीयो की पहचान – Identification of Beneficiaries under Ayushman Bharat Scheme 

सही लाभार्थीयो की सही रूप से पहचान करना एक जटिल समस्या है, क्योंकि एक गाँव या एक इलाके में एक ही नाम वाले कई लोग मिल जाते है। ऐसी स्थिति में योग्य व्यक्ति की पहचान करना निश्चय ही कठिन होगा। हालाँकि इसके लिये सभी लाभार्थियों की सूची को राज्यों के माध्यम से सभी ग्राम पंचायतों तक पहुंचा दिया जायेगा, जहां से सभी लाभार्थी इसकी जानकारी को प्राप्त कर सकेंगे।

आयुष्मान भारत योजना के तहत बीमा प्रीमियम का निर्धारण – Determination of Insurance Premium under Ayushman Bharat Scheme

बीमा प्रीमियम के निर्धारण हेतु बीमा कंपनियों को राज्यों के अनुसार ठेका दिया जायेगा, और ठेके के लिए बोली लगाई जाएगी, इस प्रक्रिया में सरकारी और निजी दोनों बीमा कंपनियां सम्मिलित हो सकती हैं, बीमा प्रीमियम का निर्धारण राज्य की जनसंख्या में पात्र लोगों की संख्या के आधार पर किया जायेगा। 

आयुष्मान योजना की रुपरेखा – Outline of Ayushman Yojana

आयुष्मान योजना के तहत होनें वाले खर्च का 60 प्रतिशत हिस्सा केंद्र सरकार को और 40 प्रतिशत हिस्सा राज्य सरकार को वहन करना होगा। जबकि उत्तर पूर्वी और पहाड़ी राज्यों जैसे हिमाचल प्रदेश, उत्ताखंड, जम्मू-कश्मीर आदि राज्यों में केंद्र सरकार की भागीदारी 90 प्रतिशत की रहेगी। आयुष्मान भारत योजना का सारा कार्य केंद्र सरकार के अधीन होगा।

अंत में निष्कर्ष  

हमनें इस लेख के माध्यम से आपको आयुष्मान भारत योजना के बारें में सम्पूर्ण जानकारी देने प्रयास किया गया है, हमे पूरी उम्मीद है यह जानकारी आपके लिये काफी उपयोगी साबित होगी यदि इस आर्टिकल से सम्बन्धित आपके पास कोई सुझाव हो तो कमेंट बाक्स के माध्यम से आप उसे हम तक पंहुचा सकते है। आप इस जानकारी को अपने दोस्तों और सोशल मिडिया पर जरूर शेयर करे। आपका धन्यवाद!

HINDI WEB BOOK

HINDI WEB BOOK

हिंदी वेब बुक अपने प्रिय पाठकों को बहुमूल्य जानकारियाँ उपलब्ध कराने के लिये समर्पित है, हम अपने इस कार्य में उनके समर्थन और सुझाव की अपेक्षा करते है, ताकि हमारा यह प्रयास और बेहतर हो सके।

Leave a Comment

View More Post