ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर क्या है? Open Source Software in Hindi

0
1313
Open Source Software

ओपन सोर्स एक ऐसा शब्द है जिसे अधिकतर तकनिकी भाषा के जानकार इसको सीधे तौर पर Open Source Software (OSS) के साथ जोड़ देते है। ओपन सोर्स एक प्रकार का Software Code है जिसे इस प्रकार डिजाइन किया गया है जो सार्वजनिक रूप से सभी के लिए Accessible हो – तथा इस Code को कोई भी देख, संशोधित और वितरित कर सकता है।

Open Source Software in Hindi

Open Source Software को Decentralized और Collaborative रूप से विकसित किया गया है, जो सहकर्मी समीक्षा और सामुदायिक उत्पादन पर निर्भर करता है। Open Source Software पूर्ण रूप से सस्ता, अधिक लचीला और दूसरे सॉफ्टवेयर की तुलना में अधिक समय तक चलने वाला होता है, क्योंकि इसे किसी एक अथॉरिटी या कंपनी के लिए नहीं बल्कि इसे कम्युनिटी के रूप में विकसित किया जाता है।

आज ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर काम करने का एक तरीका बन गया है जो सॉफ्टवेयर के प्रोडक्शन से आगे पहुंच गया है। ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर सिस्टम आज अपने मूल्यों और विकेंद्रीकृत मॉडल की साहयता से कम्युनिटी और उद्योगों की समस्याओं को हल करने के नए तरीके को खोजने का प्रयास कर रहा है। 

ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर क्या है?

What is Open Source Software in Hindi? 

Open Source Software यनिकी OSS एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जो अपने सोर्स कोड के साथ ही वितरित किया जाता है, जो इसे अपने मूल अधिकारों के साथ उपयोग, संशोधन और वितरण के लिए उपलब्ध कराता है। सोर्स कोड सॉफ्टवेयर का वह भाग होता है जिसे अधिकांश कंप्यूटर उपयोगकर्ता कभी नहीं देखते हैं; यह एक प्रोग्राम या एप्लिकेशन है जिसे कोड कंप्यूटर प्रोग्रामर नियंत्रित करने के लिये उपयोग करता हैं। 

Open Source Software

जिन प्रोग्रामर के पास इस सोर्स कोड तक पहुंच होती है, वे इसे जोड़कर, बदलकर या इसके कुछ हिस्सों में हेर फेर करके किसी भी प्रोग्राम को बदल सकते हैं जो ठीक से काम नहीं कर रहा हैं। Open Source Software में आम तौर पर एक लाइसेंस शामिल होता है जो किसी भी प्रोग्रामर को उस सॉफ्टवेयर को संशोधित करने की अनुमति देता है ताकि वह अपनी जरूरतों के हिसाब से उसे डिजाइन कर सकें और इसे नियंत्रित कर सकें कि इस Open Source Software को कैसे वितरित किया जा सकता है।

ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर  

Open Source Software कोड को स्वतंत्र रूप से सबके लिए उपलब्ध कराने का विचार सबसे पहले 1983 में एक वैचारिक आंदोलन से उत्पन्न हुआ, जिसे MIT के एक प्रोग्रामर रिचर्ड स्टालमैन के द्वारा अनौपचारिक रूप से स्थापित किया गया था। इस विषय में स्टैलमैन का यह मानना ​​था कि यह सॉफ्टवेयर सभी प्रोग्रामर्स के लिए सुलभ होना चाहिए, ताकि वे इसे अच्छी तरह से समझ और जान सके तथा अपनी इच्छानुसार इसे संशोधित और इसमें सुधार कर सकें।

सबसे पहले स्टालमैन ने अपने स्वयं के लाइसेंस के तहत ही मुफ्त कोड को जारी करना शुरू कर दिया था, जिसे आज GNU पब्लिक लाइसेंस कहा जाता है। इसके बाद सॉफ्टवेयर निर्माण को लेकर इस नए दृष्टिकोण और विचारधारा ने जोर पकड़न शुरू कर दिया और आखिरकार 1998 में Open Source Initiative का गठन किया गया।

Open Source Software और कम्युनिटीज को बढ़ावा देने और उनकी सुरक्षा के लिए Open Source Initiative (OSI) को स्थापित किया गया था। संक्षेप में कहे तो, OSI एक केंद्रीय सूचना और Open Source Software के Governing Repository के रूप में कार्य करता है। यह OSS के उपयोग करने सम्बन्धी सभी नियमो और दिशा निर्देशो को प्रदान करता है, तथा साथ ही साथ कोड लाइसेंसिंग की जानकारी भी प्रदान करता है जिससे इसे समझने और उपयोग करने में मदद मिल सके।

Open Source Software कैसे काम करता है? 

Open Source Software कोड आमतौर पर एक पब्लिक रिपॉजिटरी में स्टोर किया जाता है जहां से इसे सार्वजनिक रूप से शेयर किया जाता है। यहाँ से कोई भी स्वतंत्र रूप से इस कोड का उपयोग करके अपने प्रोजेक्ट के डिजाइन और उसकी कार्यक्षमता में सुधार करने के लिये Software License तक पहुंच सकता है।

Open Source Software आमतौर पर इसी वितरण लाइसेंस के साथ आता है। इस लाइसेंस में ऐसे शब्द शामिल होते हैं जो यह परिभाषित करते हैं कि डेवलपर्स इसका उपयोग और अध्ययन कैसे कर सकते हैं, जिससे अपने अनुरूप इसे संशोधित कर सके। Ii Synopsys ब्लैक डक® नॉलेजबेस के अनुसार, सबसे लोकप्रिय केवल पांच लाइसेंस हैं, जो इस प्रकार है:-

Open Source Software

  1. MIT लाइसेंस
  2. GNU जनरल पब्लिक लाइसेंस (GPL) 2.0 – यह अधिक प्रतिबंधक है और इसके लिए संशोधित कोड की प्रतियां सार्वजनिक उपयोग के लिए उपलब्ध हैं।
  3. अपाचे लाइसेंस 2.0
  4. GNU जनरल पब्लिक लाइसेंस (GPL) 3.0
  5. बीएसडी लाइसेंस 2.0 (3-Clause, New or Revised) – यह कम प्रतिबंधात्मक है।

जब किसी ओपन सोर्स कोड को बदल दिया जाता है, तो इसमें OSS को शामिल करना चाहिए तथा साथ ही साथ इसमें शामिल तरीकों को भी बदल दिया जाना चाहिए। वैसे यह लाइसेंस शर्तों के आधार पर निर्भर करेगा की, इन सॉफ़्टवेयर में संसोधन करने के लिये वह फ्री है या नहीं।

ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर लिस्ट

यहा पर ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के उदाहरण दिये गये है:-

  1. GNU / Linux
  2. मोज़िला फ़ायरफ़ॉक्स
  3. VLC मीडिया प्लेयर
  4. SugarCRM
  5. GIMP
  6. VNC
  7. अपाचे वेब सर्वर
  8. Libre Office
  9. jQuery

ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर और क्लोज्ड सोर्स सॉफ्टवेयर में अंतर 

Open Source Software

कीमत;-

Open Source Software – नाममात्र या शून्य लाइसेंस और उपयोग शुल्क के लिए उपलब्ध है।

Closed Source – लागत सॉफ्टवेयर के पैमाने के आधार पर भिन्न होती है।

Modify करने की स्वतंत्रता:-

Open Source – पूरी तरह से Modify कर सकते है लेकिन यह Open Source License पर निर्भर करता है। इसके लिये विशेषज्ञता की आवश्यकता है।

Closed Source – सॉफ्टवेयर बेचने वाली कंपनी को परिवर्तन करने ले लिये अनुरोध करना होगा। इसमें बग फिक्स, फीचर्स और एन्हांसमेंट शामिल हैं।

उपयोगकर्ता के अनुरूप:-

Open Source software – आमतौर पर उपयोगकर्ता के अनुरूप कम, लेकिन यह प्रोजेक्ट के लक्ष्यों और इसे बनाए रखने वाले लोगों पर निर्भर कर सकता है।

Closed Source – आमतौर पर उपयोगकर्ता के अधिक अनुरूप तथा लाभ के लिए, क्षमता और उपयोगकर्ता के अनुरूप होते हैं।

ऑफ्टर सेल्स सपोर्ट:- 

Open Source – Open Source Software के बहुत After Sales Support है। अन्यथा, आप उपयोगकर्ता फ़ोरम और मेलिंग सूचियों के माध्यम से मदद पा सकते हैं।

Closed Source – इसके लिये समर्पित सपोर्ट टीम होती हैं या फिर सेल्स लीज एग्रीमेंट (SLA) पर निर्भर करता है।

सुरक्षा:-

Open Source – सोर्स कोड सभी के द्वारा समीक्षा के लिए खुला है। हालांकि यह एक व्यापक सिद्धांत है कि कोड पर जितनी अधिक आँखें होगी वह उतना कम सुरक्षित होगा। 

Closed Source – सॉफ्टवेयर का वितरण करने वाली कंपनी (यानी, सॉफ्टवेयर मालिक) तथा SLA की शर्तों के आधार पर एक निश्चित स्तर के समर्थन की गारंटी देता है। क्योंकि इसमें Source Code किसी भी प्रकार की समीक्षा के लिए बंद है। यदि इसमें समस्याएँ मिलती हैं, तो उन्हें ठीक करने के लिए सॉफ़्टवेयर वितरक ज़िम्मेदार होगा।

वेंडर लॉक-इन:- 

Open Source Software – इसमें कोई वेंडर लॉक-इन नहीं होता है। इसलिये यह सॉफ्टवेयर में तकनीकी निर्भरता को पैदा कर सकता है।

Closed Source – ज्यादातर मामलों में, मालिकाना हक़ के लिये सॉफ्टवेयर में बड़े निवेश किए जाते हैं। इसलिये इसमें एक विक्रेता के रूप में ओपन सोर्स पर स्विच करना महंगा हो सकता है।

स्टेबिलिटी:-

Open Source – यह वर्तमान उपयोगकर्ता तथा उस सॉफ्टवेयर को बनाए रखने वाले टेक्निकल टीम और बाजार इसकी स्थिरता तथा वर्षों की संख्या पर निर्भर करेगा।

Closed Source – यह एक समाधान के रूप में कम स्थिर हैं। क्योकि नए उत्पादों में Open Source के उत्पादों के विकल्प के रूप में कई चुनौतियां हैं। यदि कोई वितरक किसी एप्लिकेशन को बंद करता है, तो निश्चित रूप में इसकी स्थिरता पर प्रभाव पड़ता है।

लोकप्रियता:-

Open Source – कुछ ओपन सोर्स समाधान बहुत लोकप्रिय हैं और यहां तक ​​कि बाजार के लीडर के रूप में स्थापित (जैसे, Linux, अपाचे) हैं।

Closed Source – कुछ उद्योगों में, स्वामित्व वाले सॉफ्टवेयर अधिक लोकप्रिय है, खासकर के अगर वह कई वर्षों से बाजार में उपलब्ध है।

टोटल कोस्ट ऑफ़ ओनरशिप (TCO):-

Open Source Software – न्यूनतम या उपयोग की लागत के कारण TCO कम है, और यह आवश्यक रखरखाव के स्तर पर निर्भर करता है।

Closed Source – TCO बहुत अधिक है और उपयोगकर्ता आधार के आकार पर निर्भर करता है।

कम्युनिटी पार्टिसिपेशन:-

Open Source – यह सॉफ्टवेयर के विकास, समीक्षा तथा उसके विकास के लिये कम्युनिटी के Goal पर निर्भर करता है।

Closed Source – इसमें कम्युनिटी पार्टिसिपेशन बंद है।

अन्य ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के साथ इंटरऑपरेबिलिटी:-

Open Source – यह समूह के रखरखाव और लक्ष्यों के स्तर पर निर्भर करेगा, लेकिन यह आमतौर पर बंद स्रोत सॉफ़्टवेयर से बेहतर है।

Closed Source – यह डेवलपमेंट के स्टैण्डर्ड पर निर्भर करेगा।

टैक्स कैलकुलेशन:-

Open Source Software – अपरिभाषित मॉनीटरी मूल्य के कारण मुश्किल।

Closed Source – इसमें टैक्स कैलकुलेशन संभव है। 

एन्हांसमेंट या नई सुविधाएँ:-

Open Source – जरूरत पड़ने पर उपयोगकर्ता द्वारा विकसित किया की जा सकती है।

Closed Source – सॉफ़्टवेयर स्वामी से अनुरोध करके किया जाना चाहिए।

Financial Institution:-

Open Source – वित्तीय संस्थान ओपन सोर्स को पसंद नहीं करते है।

Closed Source – वित्तीय संस्थान मालिकाना सॉफ्टवेयर पसंद करते हैं।

गारंटी:-

Open Source – कोई वारंटी उपलब्ध नहीं है।

Closed Source – वारंटी तथा सुरक्षा नीतियों वाली कंपनियों के लिए सर्वश्रेष्ठ।

अंत में 

हमनें इस लेख के माध्यम से आपको “Open Source Software क्या है?” के बारें में सम्पूर्ण जानकारी देने प्रयास किया गया है, हमे पूरी उम्मीद है यह जानकारी आपके लिये काफी उपयोगी साबित होगी। 

यदि इस आर्टिकल से सम्बन्धित आपके पास कोई सुझाव हो तो कमेंट बाक्स के माध्यम से आप उसे हम तक पंहुचा सकते है। आप इस जानकारी को अपने दोस्तों और सोशल मिडिया पर जरूर शेयर करे। आपका धन्यवाद!

Read More