Server क्या होता है, और यह कितने प्रकार का होता है?

0
119
Server क्या होता है

आज हम जानेगे की server क्या होता है, और यह कितने प्रकार के होते है? इसे जानने के लिये हमे computer को समझना होगा क्योकि computer हमारे दैनिक जीवन का एक अति आवश्यक अंग बन गया है, जैसे-जैसे विज्ञान ने दिनों दिन तरक्की की उसी के साथ-साथ computer ने भी अपने कई स्वरूपों को बदला है। 

सबसे पहले जब computer आया तो वह केवल सामान्य कार्य जैसे data processing आदि कार्य ही कर सकता था। परन्तु जैसे-जैसे विज्ञानं ने तरक्की की उसी के साथ-साथ computer की कार्य प्रणाली में भी बदलाव होता चला गया। समय के साथ network technology का विकास तेजी से हुआ, जिसने computer की कार्य क्षमता को प्रभावी बना दिया। आज के इस विकसित computer system के साथ एक शब्द जुड़ गया है, और वह है सर्वर. 

Server network system में प्रयोग की जाने वाली ऐसी तकनीकी व्यवस्था है, जो उससे जुड़े हुए कई सारे device और प्रोग्राम जिन्हे clients कहते हैं, उन्हें विभिन्न सेवाएं प्रदान करता है। सर्वर सभी नेटवर्क के रिसोर्सेज को networking के द्वारा एक दूसरे से कनेक्ट करने का कार्य करता हैं। यह एक तरह से service provider होता है, जिसका कार्य clients की आवश्यकता अनुसार data और information उपलब्ध कराना, अर्थात serve करना होता है, यही सर्वर की परिभाषा है।

सर्वर क्या होता है? What is the Server in hindi?

Server क्या होता है? इसे हम थोड़ा विस्तार से समझने का प्रयास करते है। जब हम किसी website पर कोई जानकारी चाहते है, तो वह website एक सर्वर से कनेक्ट होती है, जहाँ पर उस website का सारा डाटा चाहे वो text के रूप में हो या images के रूप में हो या video के रूप में हो सब कुछ उस सर्वर पर ही store होता है।

Server क्या होता है

जैसे ही हम कुछ टाईप करते है, वह website तुरंत अपने सर्वर से connect करती है, और सर्वर तुरंत उसकी डिमांड के अनुसार जानकारी को उपलब्ध कराता है। यहाँ पर वो website एक client है और सर्वर एक service provider जो अपने client को सर्विस देता है।

पहले जिन servers का उपयोग होता था उनमे से कुछ mainframe computer थे और कुछ minicomputer भी इसके लिये प्रयोग होते थे। वैसे मिनीकंप्यूटर, मेनफ़्रेम कंप्यूटर के comparison में काफी छोटे होते थे, लेकिन जैसे-जैसे समय के साथ तकनीक का विकास होता गया ये मेनफ़्रेम और मिनी कंप्यूटर, अपने समकक्ष डेस्कटॉप कंप्यूटर की तुलना में बहुत बड़े होते चले गये, जिससे माइक्रो कंप्यूटर और मेनफ़्रेम कंप्यूटर जैसे शब्द समाप्त होते चले गये।

शुरुवाती दौर में terminals के रूप में servers का उपयोग किया जाता था, इन टर्मिनलों को डंब टर्मिनल्स कहाँ जाता था, जो केवल कार्ड रीडर या कीबोर्ड के माध्यम से ही इनपुट को स्वीकार करते थे और फिर उसे डिस्प्ले स्क्रीन या प्रिंटर पर परिणामों के रूप में दर्शाते थे।

उसके बाद जैसे तकनीकी का विकास हुआ वैसे ही सर्वर सिंगल और शक्तिशाली कंप्यूटर के रूप में सामने आये जो नेटवर्क के माध्यम से कम-शक्तिशाली client computers के एक समूह से जुड़े हुऐ थे। इसे architectural network client-server model के रूप में जाना जाने लगा, जिसमें client computer और सर्वर दोनों में ही कंप्यूटिंग की पॉवर होती थी।

समय के साथ-साथ जैसे-जैसे Technology विकसित होती गई, उसके साथ सर्वर की भी नई परिभाषा विकसित होती गई। आज प्रयोग होने वाले सर्वर पहले की अपेक्षा अधिक विकसित और शक्तिशाली है, जो एक साथ कई client computer को हैंडल कर सकते है। इन सभी सर्वर को इनकी तकनीकी क्षमता और विकसित प्रणाली के रूप में कई वर्गों में विभाजित किया गया है, जिन्हे हम एक एक करके समझने का प्रयास करेंगे।

Server क्या होता हैसर्वर कितने प्रकार के होते है? How many types of server in hindi?

वैसे तो सर्वर को जरूरतों के हिसाब से उसका निर्माण किया जाता है, ये सभी सर्वर अलग-अलग प्रकार के होते है और अपनी क्षमताओं के आधार पर अलग-अलग प्रकार की सेवाएं प्रदान करते है।

  1. वेब सर्वर (web server)
  2. ईमेल सर्वर (email server)
  3. फाइल सर्वर (file server)
  4. एप्लीकेशन सर्वर (application server)
  5. डेटाबेस सर्वर (database server)
  6. प्रॉक्सी सर्वर (proxy server)
  7. FTP सर्वर (FTP server)
  8. क्लॉउड सर्वर (cloud server)
  9. इंटरनेट सर्वर  (internet server)

What is Web Servers

Web servers जैसा इसके नाम से विदित हो रहा है, इसमें इंटरनेट पर मौजूद सभी वेबसाईट का डाटा स्टोर होता है। यह सर्वर सभी वेबसाईट के वेब ब्राउजर से जुड़ा होता है, जैसे ही कोई यूजर वेब ब्राउजर में किसी वेबसाईट को देखने की request करता है, तब यह उस वेबसाईट का डाटा उस यूजर के device से तुरंत connect कर देता है।

What is Email Server

Email सर्वर सभी users की account की details और उनके सभी messages को store करके रखता है। जैसे ही कोई यूजर email पर मैसेज टाईप करके send बटन पर क्लिक करता है, तो email server SMTP प्रोटोकॉल के द्वारा उसे तुरंत दूसरे account में ट्रांसफर कर देता है।

What is File Server

File सर्वर का उपयोग use file को ट्रांसफर करने के लिये किया जाता है। file server का use लोकल नेटवर्क पर किया जाता है, इस पर कंप्यूटर की सभी फाइलें स्टोर होती है, जो यूजर के request करने पर उस फाइल की कॉपी को कंप्यूटर पर भेज देता है।

Server क्या होता है

What is Application Server

Application सर्वर एक प्रकार का कंप्यूटर प्रोग्राम होता है, जो किसी यूजर और डाटाबेस के बीच की application को मैनेज करता है, इसका उपयोग अधिकतर कॉम्प्लेक्स ट्रांस्जेकसन्स से सम्बंधित application के लिये किया जाता है, application server का उपयोग बैंक के माध्यम से लेन-देन करना या ऑनलाइन मनी ट्रांजेकसन्स करना शामिल है। 

What is Database Server

Database सर्वर एक प्रकार का डिजाइनड़ कंप्यूटर सिस्टम होता हैं जिसका मुख्य कार्य स्टोर डेटाबेस से डाटा को एक्सेस और रिट्रीव करने का होता है। जब कोई यूजर request करता है तो या डेटाबेस से उस जानकारी को एक्सेस कर अपना आउटपूट देता हैं। यह एक प्रकार के वेयरहाउस के समान होता है, database server पर सभी वेबसाइट के डाटा को स्टोर करके रखा जाता है।

What is Proxy Server

Proxy सर्वर मुख्य रूप से क्लाइंट प्रोग्राम और external सर्वर के बिच में एक मीडिएटर का काम करता है, यह एक प्रकार का gateway है। जब कोई यूज़र इंटरनेट पर कोई request करता है, तो proxy सर्वर उस request की जटिलता का मूल्यांकन करके उसे सरल बनाने का प्रयास करता है।

What is FTP Server

प्रतिदिन इंटरनेट के माध्यम से एक कम्प्यूटर से दूसरे कम्प्यूटर पर हजारों files transfer होती है। इन सभी फाइलों को FTP server यानिकि file transfer protocol के द्वारा ही ट्रांसफर किया जाता है। जब कोई user वेब ब्राउज़र पर किसी वेब पेज के लिये request को करता है, तो वह ब्राउज़र आपकी request की हुई file को दिखाने के लिए इसी सर्वर का प्रयोग करता है।

Server क्या होता है

What is Cloud Server

Cloud server को अगर आसान भाषा में समझे तो इसका अर्थ virtual सर्वर से है जो एक cloud computing network पर रन होता हैं। यह एक साथ कई कार्य कर सकता है। इसी कारण से, अधिकतर cloud सर्वर को virtual dedicated servers (VDS) के रूप में परिभाषित किया जाता है। 

What is Internet Server

Internet का पूरा structure, client-server model पर ही base होता है। जो एक उच्च-स्तर के root name server, DNS सर्वर और रूटर्स इंटरनेट के द्वारा आ रहे ट्रैफिक को direct करती हैं। आज पुरे विश्व में इंटरनेट से जुड़े ऐसे लाखों सर्वर हैं जो लगातार चल रहे हैं। इन internet servers द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवाओं में मुख्यत शामिल हैं: 
  1. वर्ल्ड वाइड वेब
  2. डोमेन की रजिस्ट्रेशन प्रणाली
  3. इलेक्ट्रॉनिक मेल
  4. FTP फ़ाइलो का स्थानांतरण
  5. चैट और ईमेल मैसेज
  6. Audio ट्रांसमिशन
  7. स्ट्रीमिंग वीडियो और ऑडियो
  8. ऑनलाइन गेमिंग
इनके आलावा ऐसी भी कई प्रौद्योगिकियां हैं जो internet सर्वर के स्तर पर ही संचालित होती हैं। इनमे अन्य सेवाओं में संबंधित सर्वर का उपयोग नहीं किया जाता है; उदाहरण के तौर पर – peer-to-peer फ़ाइल शेयरिंग, implementation of telic (ex – skype), भिन्न-भिन्न उपयोगकर्ताओं को टेलीविज़न कार्यक्रमों की supply [ex – kontiki (कोंटिकी), slingbox (स्लिंगबॉक्स)]

सर्वर काम कैसे करता है? (How does Server Works) 

सर्वर काम कैसे करता है यह एक टेक्नीकल विषय है, फिर भी प्रयास करेंगे इसे साधारण भाषा में समझने का, सर्वर कुछ चरणों में अपना कार्य पूरा करता है।

Server क्या होता है

Server Communication  – जब आप किसी Search Browser में किसी वेबसाइट के URL को Type करते है, जैसे- https://hindiwebbook.com तो वेब ब्राउज़र उस वेबसाइट के Host सर्वर के साथ Communication करता है, ताकि उस वेबसाइट के डाटा को दिखा सके।

URL Breaking  – Browser टाईप URL को तीन हिस्सो में Divide करता है, पहला है Protocol (HTTP) दूसरा है Domain-Name और तीसरा है File Name 

Server Convert Domain Name into IP Address – अब वेब ब्राउज़र उस वेबसाइट के डोमेन नेम को एक Unique IP address में Convert करता है। सर्वर पर हर वेबसाईट का एक Unique IP Address  होता है।

Final Result  – जब वेब ब्राउजर और सर्वर आपस मे Connect हो जाते है, तब आपकी रिक्वेस्ट को सर्वर उन सभी फाइलों को जो HTML डॉक्यूमेंट के रूप में स्टोर होती है, उन्हें वेब पेज में परिवर्तित कर आपको कम्प्यूटर स्क्रीन पर दिखाता है।

सर्वर का इतिहास क्या है? (History of Servers in Hindi)

इतिहास के पन्नो में सर्वर से सम्बंधित कुछ तथ्य 

1981 – The IBM VM Machine – पहला लिस्‍टेड सर्वर

1991 – NeXTCube – पहला वेब सर्वर

1994 – ProLiant, First Rack – पहला रैक-माउन्टेबल सर्वर

1998 – Sun Ultra II – पहला Google सर्वर

2001 – RLX Blade – पहला मॉडर्न ब्लेड सर्वर

2008 – PS3 Cluster – GPU के साथ डिस्ट्रिब्यूटेड कंप्यूटिंग

2009/2012 – क्‍लाउड और इसके आगे 

अंत में 

इस आर्टिकल “Server क्या होता है, और यह कितने प्रकार के होते है?” के माध्यम से में सर्वर से सम्बंधित सभी उपयुक्त जानकारियों को देने का प्रयास किया गया है। उम्मीद है की सर्वर से सम्बंधित जो भी Question आपके माइंड में होंगे वह इस आर्टिकल के द्वारा आपको उनका Answer आपको अवश्य मिल जायेगा। अगर इससे से सम्बंधित कोई सुझाव हो तो उनका स्वागत है।

Read More

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here