Barcode कैसे काम करता है? What is Barcode in hindi?

0
64
Barcode

Barcode या QR Code क्या होता है और यह काम कैसे करता है, आप सभी ने कोई भी प्रोडक्ट खरीदते समय उस पर प्रिंट बार कोड को अवश्य देखा होगा। 1970 के दशक में इन प्रकार की Barcoding की शुरुआत की गई थी और अब यह नियमित रूप से व्यापारिक लेनदेन का एक सर्वव्यापी हिस्सा बन गया है।

Barcode क्या है? What is Barcode in hindi?

Barcode का प्रयोग किराने की दुकानों या किसी Supermarket से किसी उपभोक्ता द्वारा खरीद गये सामान के बारे में उसका मूल्य और अन्य डेटा प्राप्त करने के लिए बार कोड का उपयोग करते हैं।

सभी सुपरमार्केट में सामान खरीदने के बाद चेकआउट काउंटर पर, एक स्कैनर का प्रयोग करके Barcode या QR Code के माध्यम से Product की पहचान और उससे सम्बंधित जानकारी को प्राप्त किया जाता है, फिर कंप्यूटर मे उपस्थित कैश रजिस्टर मे उस प्रोडक्ट की कीमत तथा नंबर को फीड किया जाता है, जहां से वह ग्राहक की खरीद के बिल का हिस्सा बन जाता है। 

Barcode System का प्रमुख लाभ यह है कि उपयोगकर्ताओं को खरीद के समय जब Barcode को Scan किया जाता है तो यह उस प्रोडक्ट से सम्बंधित सभी विस्तृत जानकारी को प्राप्त करने की अनुमति देता हैं।

विभिन्न प्रकार के Barcode System का उपयोग उत्पादों की एक विशाल श्रृंखला को ट्रैक करने के लिए किया जाता है क्योंकि वे निर्मित, वितरित, संग्रहीत और बेचे जाते हैं। ये सभी प्रोडक्ट प्रोसेस्ड खाद्य पदार्थ और सूखे माल से लेकर दवाओं और चिकित्सा आपूर्ति, मोटर वाहन, कंप्यूटर पार्ट्स और यहां तक कि पुस्तकालय की पुस्तकों पर भी इनका प्रयोग होता हैं।

Barcode

बारकोड क्या होता है? 

Barcode एक वर्गाकार या आयताकार कोड होता है जिसमें भिन्न-भिन्न चौड़ाई की काली सामानांतर रेखाओ की एक श्रृंखला होती है जिसे एक स्कैनर द्वारा आसानी से पढ़ा जा सकता है। Barcode को तुरंत पहचान के साधन के रूप में उत्पादों पर लगाया जाता है।

इनका उपयोग मुख्यत किराना दुकानों या सुपर स्टोर में खरीदारी की प्रक्रिया के रूप में किया जाता है, इसके अतिरिक्त गोदामों में इन्वेंट्री को ट्रैक करने के लिए, तथा एकाउंटिंग में इनवॉइस को जारी करने के लिए किया जाता है।

बारकोड के घटक क्या है What are the Components of Barcode in hindi? 

बारकोड के मुख्यत तीन Components होते है जो इस प्रकार है:-

  • ①Quiet Zone  

Quiet जोन बारकोड के दोनों सिरों पर स्थित एक खाली मार्जिन होता है। बारकोड के बीच का न्यूनतम अंतर (बारकोड की सबसे बाहरी पट्टी से दूसरी सबसे बाहरी पट्टी तक) 2.5 मिमी होता है। यदि इन Quiet जोन की चौड़ाई कम है, तो उस बारकोड को पढ़ना किसी स्कैनर के लिए कठिन होता है।

  • ②Start Character / Stop Character

Start Character और Stop Character क्रमशः डेटा के प्रारंभ और अंत को दर्शाते हैं। ये Barcode के प्रकार के आधार पर भिन्न-भिन्न हो सकते हैं।

  • ③Check Digit 

Check Digit यह जांचने के लिए एक अंक होता है कि Encoded Barcode डेटा सही है या नहीं।

QR Code क्या होता है What is QR Code in Hindi?

QR code का मतलब होता है Quick Resonse जो हमे किसी भी प्रोडक्ट की जानकारी को तुरंत ही उपलब्ध करा देता है। QR code तकनीक का प्रयोग सबसे पहले 1994 मे किया गया था, जिसे Denso Wave ने डिजाइन किया था।

Barcode

QR code को मुख्यत ऑटोमोबाइल के स्पेयर पार्ट्स को स्कैन करने के लिए बनाया गया था। इसके द्वारा इन सभी पार्ट्स की जानकारी को इकठ्ठा किया जाता था। QR code एक 2-डायमेंशन मैट्रिक्स बारकोड की तरह दिखाई देता है। QR Code मे स्क्वैर डॉट्स के वर्गाकार बॉक्स होते है, जिनमे प्रोडक्ट से सम्बंधित सभी जानकारियों को स्टोर किया जाता है।

जिनमे URL, मोबाइल नंबर, टेक्स्ट, कांटेक्ट डिटेल्स आदि कई जानकारिया स्टोर की जाती है। QR Code को स्टोर और ट्रांसमिट दोनो तरह से प्रयोग किया जाता है। QR code का प्रयोग स्मार्टफोन्स, टैबलेट और कंप्यूटर जैसे डिवाइस के द्वारा किया जाता है।

बारकोड कैसे काम करता है? How does Barcode works in hindi?

Barcode ब्लैक और वाइट लाइनों से मिलकर बना होता है। जिसमे प्रोडक्ट से सम्बन्धी जानकारी को स्टोर किया जाता है। जिसे Barcode Scanner साहयता से Read किया जाता है। इसमे 0 से लेकर 9 तक कोई भी नंबर हो सकता है। 

हर नंबर में 7 लाइने होती जिसमे कुछ वाइट और कुछ ब्लैक होती है। हर लाइन के लिए एक अलग नंबर होता है। जब हम इन लाइनो को स्कैन करते है तब वाइट लाइन लेजर को बापस कर देती है और ब्लैक लाइन लेजर को Observe कर लेती है।

Barcode

इस प्रक्रिया में स्कैनर जहाँ लेजर बापस आती है उसे One और जहाँ लेजर बापस नहीं आती उसे Zero पढ़ता है। इस प्रकार हम इन्हे सात-सात भागो मे Divide करके यह पता लगा लेते है कि इसमे पहला, दूसरा और तीसरा नंबर कौन सा है, इस तरह हम आसानी से Barcodes के नंबर को पढ़ लेते है।

बारकोड कितने प्रकार के होते है What are the types of barcodes? 

बारकोड सामान्य प्रकार से दो तरह के होते हैं: 

1- Dimensional (1D) और 2- Dimensional (2D)

  • 1- Dimensional Barcodes

1D Barcodes टेक्स्ट की जानकारी मुख्यत प्रोडक्ट को स्टोर करने के लिए उपयोग की जाने वाली लाइनों की एक श्रृंखला होती है, जैसे कि प्रोडक्ट के प्रकार, आकार और रंग आदि।

इनका प्रयोग प्रोडक्ट की पैकेजिंग पर सबसे ऊपर यूनिवर्सल प्रोडक्ट कोड (UPCs) के रूप में किया जाता हैं, जहा से U.S. पोस्टल सर्विस के माध्यम से तथा आईएसबीएन नंबरों के माध्यम से सभी प्रोडक्ट्स को ट्रैक करने में मदद मिलती हैं।

  • 2- Dimensional Barcodes

2 D Barcode थोड़ा अधिक जटिल होता हैं और इसमें केवल टेक्स्ट की तुलना में अधिक जानकारी शामिल होती है, जैसे कि प्रोडक्ट की कीमत, मात्रा और यहां तक ​​कि प्रोडक्ट की पिक्चर भी। यही कारण है की, लाइनर बारकोड स्कैनर उसे नहीं पढ़ सकते हैं, हालांकि स्मार्टफ़ोन और अन्य दूसरे पिक्चर स्कैनर के द्वारा इसे पढ़ा जा सकता है।

बारकोड का इतिहास क्या है? History of Barcode in hindi

Barcode के कांसेप्ट को सबसे पहले Norman Joseph Woodland द्वारा विकसित किया गया था, जिन्होंने Morse Code और Bernard Silver को दिखाने के लिए रेत में लाइनों की एक श्रृंखला को खींचा था।

जिसे 1966 में पेटेंट किया गया और उसके बाद यह NCR Barcode Symbiology को पढ़ाने के लिए एक Commercial Scanner को विकसित करने वाली पहली कंपनी बन गई। Wrigley’s गम का प्रोडक्ट पैकेट, वह पहला आइटम था जिसे सबसे पहले स्कैन किया गया था, जो मार्श सुपरमार्केट ट्रॉय, ओहियो, NCR के गृहनगर में था।

अलग-अलग देशों के बारकोड क्या-क्या है? What are the barcodes of different countries?

  1. 890: भारत
  2. 00-13: संयुक्त राज्य अमेरिका और कनाडा
  3. 30-37: फ्रांस
  4. 40-44: जर्मनी
  5. 45, 49: जापान
  6. 46: रूस
  7. 471: ताइवान
  8. 479: श्रीलंका
  9. 480: फिलीपींस
  10. 486: जॉर्जिया
  11. 489: हांगकांग
  12. 49: जापान
  13. 50: यूनाइटेड किंगडम
  14. 690-692: चीन
  15. 70: नॉर्वे
  16. 73: स्वीडन
  17. 76: स्विट्जरलैंड
  18. 888: सिंगापुर
  19. 789: ब्राजील
  20. 93: ऑस्ट्रेलिया

ऊपर दी गयी इस जानकरी के आधार पर हम आप किसी भी बारकोड को देखकर इस बात का पता लगा सकते हैं कि वह प्रोडक्ट किस देश में निर्मित हुआ है।

Barcode

बारकोड का कारोबार मे लाभ है? Benefits of barcode in business

बारकोड को कमर्शियल लेनदेन की गति में सुधार लाने के लिए विकसित किया गया था, इसके अतिरिक्त व्यवसायों के लिए इसमें अन्य संभावित लाभ भी शामिल हैं:

बेहतर सटीकता – डेटा को प्रोसेस करने के लिए बारकोड पर निर्भर होना मैन्युअल रूप से दर्ज किए गए डेटा की अपेक्षा अधिक सटीक होता है, जिसमे गलतियों संभावना कम होती है।

डेटा तुरंत उपलब्ध होना – इसकी प्रोसेसिंग स्पीड के कारण, इन्वेंट्री स्तर या बिक्री के बारे में जानकारी तुरंत उपलब्ध हो जाती है।

प्रशिक्षण की आवश्यकताओं को कम करना – बारकोड स्कैनर को यूज़ करने की सरलता के कारण कर्मचारियों को इसके प्रशिक्षण आवश्यकता कम होती है। इसके अतिरिक्त, बारकोड के कारण कर्मचारियों को भी प्रोडक्ट की जानकारी को याद रखने की आवश्यकता भी बहुत कम होती है।

बेहतर इन्वेंट्री नियंत्रण – इन्वेंट्री को स्कैन और ट्रैक करने की योग्यता के कारण इसके द्वारा दी गई जानकारी अधिक सटीक होती है, साथ ही इन्वेंट्री मैनेजमेंट की बेहतर गणना होती है। इससे कंपनियां कम इन्वेंट्री रख सकती और मैनेज कर सकती है।

कम लागत लगना – बारकोड को तुरंत उत्पन्न करना आसान होता है, जैसा कि बारकोड प्रणाली को स्थापित करना है। इसमें संभावित बचत को लगभग तुरंत महसूस किया जा सकता है।

बारकोड का मुख्य उद्देश्य क्या है? Main purpose of barcode

जब भी हम किसी भी दुकान से कोई आइटम या प्रोडक्ट खरीदते है, तो आपको उसकी पैकेजिंग पर विभिन्न नंबरों की भिन्नता के साथ पतली और काली रेखाओं का एक लेबल दिखाई देगा। यह लेबल वहाँ उपस्थित कैशियर द्वारा स्कैन किया जाता है, जिससे उस आइटम या प्रोडक्ट का सारा विवरण और मूल्य कैशियर की कंप्यूटर स्क्रीन पर स्वचालित रूप से प्रदर्शित होने लगता है। 

Barcode का उपयोग Symbiology पर आधारित डेटा और सूचनाओं को पढ़ने के लिए किया जाता है, जिसमें उन छोटी काली रेखाओं की चौड़ाई शामिल होती है। Barcode के कई उपयोग हैं, हालांकि हम में से ज्यादातर इसे किराने या डिपार्टमेंटल स्टोर में आइटम की कीमत के बारे में उपयोग करने से ही सोचते हैं।  

आज उपभोक्ताओ के जीवन से जुड़े हर पहलू में Barcodes आम होते जा रहे हैं। उदाहरण के लिए, अब कार को किराए पर देने वाली कंपनियां भी अब Barcode का उपयोग करके अपने किराये के वाहनों की पहचान को करती हैं। 

जब आप हवाई अड्डे पर चेकइन करते है तो आपके सामान को सटीकता से ट्रैक करने के लिये उसे Barcode के द्वारा ही जांचा जाता है। यहां तक ​​कि अब अधिकांश राज्यों में ड्राइविंग लाइसेंस पर भी Barcode का उपयोग किया जाता हैं। दवा के नुस्खे, पुस्तकालय की किताबें, और अलग-अलग कूरियर शिपमेंट को ट्रैक करने के लिये भी Barcode का ही उपयोग किया जाता है। 

अंत में 

हमनें इस लेख के माध्यम से आपको “Barcode कैसे काम करता है?” के बारें में सम्पूर्ण जानकारी देने प्रयास किया गया है, हमे पूरी उम्मीद है यह जानकारी आपके लिये काफी उपयोगी साबित होगी।

यदि इस आर्टिकल से सम्बन्धित आपके पास कोई सुझाव हो तो कमेंट बाक्स के माध्यम से आप उसे हम तक पंहुचा सकते है। आप इस जानकारी को अपने दोस्तों और सोशल मिडिया पर जरूर शेयर करे। आपका धन्यवाद!

आप हमारे इन आर्टिकल्स को भी देख सकते है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here