हवा क्या है, हवा कैसे बनती है?

0
1046
हवा क्या है, हवा कैसे बनती है
हवा क्या है, हवा कैसे बनती है

हवा जो जीवन के लिए बहुत आवश्यक है वह हमारी पृथ्वी के वायुमंडल में मौजूद गैसों का मिश्रण है। लेकिन हवा क्या है, हवा कैसे बनती है आज इन सवालों का जवाब जानेगे। वैसे हवा पृथ्वी पर गुरुत्वाकर्षण बल के कारण इससे जुड़ी रहती है। हवा भी पानी की तरह, हमारे ग्रह पर जीवन को विस्तार देने के लिए आवश्यक है।

हवा क्या है, इसके महत्व के बावजूद, आज हमने वाणिज्यिक और मनोरंजक उद्देश्यों की पूर्ति के लिए हवा का उपयोग किया है, यही कारण है की हम आज हवा की गुणवत्ता के बारे में अधिक चिंतित है, क्योंकि हवा का प्रभाव सीधा हमारे स्वास्थ्य पर पड़ता है।

हवा क्या है

हवा हमारे वायुमंडल में मौजूद लगभग आठ रंगहीन और गंधहीन गैसों का एक मिश्रण है, यह गैसों का अदृश्य मिश्रण हमारी पृथ्वी को घेरे हुए है। हवा में ऑक्सीजन और नाइट्रोजन जैसे महत्वपूर्ण गैसीय पदार्थ हैं, जो इस पृथ्वी पर रहने वाली अधिकांश प्रजातियों के जीवित रहने के लिए आवश्यक हैं। अधिकतर कभी-कभी “हवा” शब्द के स्थान पर “वातावरण” शब्द का प्रयोग भी किया जाता है।

हवा क्या है, हवा कैसे बनती है
हवा क्या है, हवा कैसे बनती है

हवा क्या है यह हमारे चारों ओर मौजूद है, लेकिन हम उसे देख नहीं सकते। तो हवा क्या है, यह केवल विभिन्न गैसों का मिश्रण है। पृथ्वी के वायुमंडल में हवा कैसे बनती है हवा लगभग 78 प्रतिशत नाइट्रोजन और 21 प्रतिशत ऑक्सीजन से बनी हुई है। इसके अतिरिक्त हवा में बहुत कम मात्रा में अन्य गैसें भी शामिल हैं, जैसे कार्बन डाइऑक्साइड, नियॉन और हाइड्रोजन, आदि।

आप हमारे इन आर्टिकल्स को भी देख सकते है 

हवा कैसे बनती है

हवा क्या है, हवा कैसे बनती है हवा में सबसे प्रचुर मात्रा में प्राकृतिक रूप से पाई जाने वाली गैस नाइट्रोजन (N2) है, जो हवा में सबसे अधिक लगभग 78% है। इसके बाद ऑक्सीजन (O2) जो लगभग 21% पर दूसरी सबसे प्रचुर गैस है। इसके अतिरिक्त अक्रिय गैस आर्गन (Ar) 0.93% पर तीसरी सबसे प्रचुर गैस है।

इसके अलावा हवा में कार्बन डाइऑक्साइड (CO2), नियोन (Ne), हीलियम (He), मीथेन (CH4), क्रिप्टन (Kr), हाइड्रोजन (H2), नाइट्रस ऑक्साइड (NO), जेनॉन (Xe), ओजोन ( O3), आयोडीन (I2), कार्बन मोनोऑक्साइड (CO), और अमोनिया (NH3) भी शामिल है।

हवा क्या है, हवा कैसे बनती है
हवा क्या है, हवा कैसे बनती है

हवा में वाटर वैपर का भी एक स्वाभाविक हिस्सा है। क्योंकि हम हवा में मौजूद वाटर वैपर को को नमी के रूप में महसूस करते है, खासकर जब यह बाहर नम होता है। इसलिए उन गर्मी के दिनों को याद करें जब ऐसा लगता था कि हवा गीली महसूस होती लेकिन बिना बारिश के यह वही वाटर वैपर नमी के रूप में मौजूद है।

हवा कैसे चलती है

अब सवाल कि हवा क्या है और कैसे चलती है, जब सूर्य पृथ्वी की सतह को गर्म करता है तो उससे हमारा वायुमंडल भी गर्म होता है। इसलिए जिन हिस्सों पर सूर्य की किरणें सीधी पड़ती हैं वह हिस्से गर्म हो जाते हैं और जिन हिस्सों पर सूर्य की किरणें तिरछी पड़ती हैं वह ठंडे रहते हैं।

इसलिए पृथ्वी की सतह गर्म होने से हवा भी गर्म होने लगती है और गर्म हवा ठंडी हवा की अपेक्षा हल्की होती है जिससे वह ऊपर उठती है और फैलने लगती है। गर्म हवा के फैलने से जो स्थान खाली हो जाता है उसकी जगह लेने के लिए ठंडी हवा आ जाती है, और यही हवा के चलने का कारण होता है।

आप हमारे इन आर्टिकल्स को भी देख सकते है

हवा की उत्पत्ति कैसे हुई

हवा क्या है और उसकी उत्पत्ति को ग्रेट ऑक्सीडेशन के रूप में भी जाना जाता है, जो लगभग 2.7 अरब साल पहले हुआ था। इससे पहले हवा में ऑक्सीजन का स्तर लगभग 1/50 प्रतिशत था। जो मंगल के वातावरण में मौजूद ऑक्सीजन के स्तर के लगभग 1/5 प्रतिशत के समान है।

हवा क्या है, हवा कैसे बनती है
हवा क्या है, हवा कैसे बनती है

आधुनिक समय के मंगल की तरह, प्रारंभिक पृथ्वी का वातावरण में मुख्य रूप से कार्बन डाइऑक्साइड थी। लेकिन आज वायुमंडल में 20% ऑक्सीजन है, और केवल 0.038% कार्बन डाइऑक्साइड है, जिससे हमारे जैसे ऑक्सीजन पर निर्भर जीवों के लिए हवा क्या है जो पूरी तरह से सांस लेने योग्य हो जाती है।

सूक्ष्मजीवों में ऑक्सीफोटोसिंथेसिस के आगमन के साथ ही इस कार्बन डाइऑक्साइड का क्रमिक रूप से उपभोग शुरू हो गया, जिससे मौलिक ऑक्सीजन का “वैस्ट प्रोडक्ट” बन गया। बड़ी मात्रा में ऑक्सीजन युक्त लोहे (जंग) के भूवैज्ञानिक रिकॉर्ड ग्रेट ऑक्सीडेशन को स्पष्ट रूप से सीमांकित है।

इन अवशेषों को बैंडेड आयरन फॉर्मेशन कहा जाता है। इस घटना को “विनाश” कहा जाता है क्योंकि ऑक्सीजन अवायवीय जीवों के लिए जहरीली होती है, जिसे इस घटना ने बड़ी संख्या में मिटा दिया। पहले ऑक्सीजन-उत्पादक जीवों के विकास और पूर्ण विकसित ऑक्सीजन तबाही से पहले लगभग 300 मिलियन वर्ष का समय अंतराल था।

हवा क्या है और इसके के गुण 

हवा क्या है यहा उसके कुछ गुण बताए जा रहे है:- 

  • हवा रंगहीन होती है
  • हवा गंधहीन होती है
  • हवा को केवल महसूस किया जा सकता है
  • हवा में कई गैसों का मिश्रण होता है 
  • हवा में द्रव्यमान होता है, और इसके दबाव को वायुदाब कहा जाता है
  • गर्म होने पर हवा फूल जाती है जिससे यह अधिक क्षेत्र घेरती है। हवा जितना फैलती है उतना ही पतली हो जाती है नतीजतन, गर्म हवा का दबाव ठंडी हवा के दबाव से कम होता है।

अंत में

हमनें इस लेख के माध्यम से आपको “हवा क्या है, हवा कैसे बनती है?” के बारें में सम्पूर्ण जानकारी देने प्रयास किया गया है, हमे पूरी उम्मीद है यह जानकारी आपके लिये काफी उपयोगी साबित होगी।

यदि इस आर्टिकल से सम्बन्धित आपके पास कोई सुझाव हो तो कमेंट बाक्स के माध्यम से आप उसे हम तक पंहुचा सकते है। आप इस जानकारी को अपने दोस्तों और सोशल मिडिया पर जरूर शेयर करे। आपका धन्यवाद!

आप हमारे इन आर्टिकल्स को भी देख सकते है