Error 404 क्या है? 404 त्रुटि कैसे ठीक करें?

0
2132
Error 404

अक्सर इंटरनेट पर सर्च करते हुऐ हमे कभी कभी Error 404 से सामना हो ही जाता है। आज हम इस लेख में यह जानने का प्रयास करेंगे की Error 404 Not Found को कैसे फिक्स करें?

जब हम HTTP के माध्यम से संचार करते है तो उस समय इस प्रक्रिया में Server को उस अनुरोध का जवाब देने के लिए एक वेब पेज, वेब ब्राउजर, एक Numeric Response Code, एक वैकल्पिक, अनिवार्य, या अस्वीकृत (Status Code के आधार पर) संदेश के साथ अनुरोध किया जाता है।

Error 404 क्या है?

Error 404 in Hindi

Error 404 Means यानिकि जब आप किसी Web Site को प्राप्त करने के लिये किसी Link पर Click करते हैं, लेकिन आप जिस Site को देखना चाहते हैं उसे प्राप्त करने के बजाय, वहाँ एक 404 Error Code Indicated होता है कि यह अनुरोधित पृष्ठ उपलब्ध नहीं है, यानिकि ‘404 Not Found’। तब हमारे मन में यह Question आता है की Error 404 क्या है?

404 का मतलब एक HTTP Status Code है और यह संदेश एक ऑनलाइन उपस्थिति के Web Server से Web Browser (आमतौर पर Client) को भेजा जाता है। इसे HTTP के अनुरोध पर भेजा जाता है, तब वेब ब्राउज़र इस 404 एरर कोड को प्रदर्शित करता है।

‘Error 404’ कैसे आता है? 

Error 404 एक विशिष्ट ट्रिगर संदेश होता है यानिकि Page not found जो यह दर्शाता है की वेबसाइट से सामग्री को हटा दिया गया है या उसे किसी अन्य URL पर Transfer किया गया है। यह 404 Error Code क्यों दिखाई देता है, इसके अन्य कारण भी है, जिसमे शामिल है:

Error 404

  • URL या इसकी सामग्री (जैसे फ़ाइल या चित्र) को हटा देना या स्थानांतरित कर देना (बिना किसी आंतरिक लिंक को समायोजित किए हुऐ)।
  • URL सही रूप में ना लिखना (निर्माण प्रक्रिया या एक रीडिज़ाइन के दौरान), सही तरीके से लिंक ना करना, या ब्राउज़र में सही तरीके से टाइप ना करना। 
  • वेबसाइट के लिए जिम्मेदार सर्वर का काम नहीं करना है या कनेक्शन का टूट जाना।
  • डोमेन नाम प्रणाली (DNS) के द्वारा अनुरोधित डोमेन नाम को आईपी में सही रूप से परिवर्तित नहीं करना।
  • दर्ज किया गये डोमेन नाम का अब मौजूद नहीं होना।

Error 404 अक्सर Dead लिंक की वजह से भी आता है जिन्हे अक्सर लंबे समय तक ऐसे ही छोड़ दिए जाते हैं क्योंकि ऑपरेटरों को यह पता नहीं होता कि इन लिंक की सामग्री को हटा दिया गया है या कही और स्थानांतरित कर दिया गया है। ऐसी कई वेबसाइट अब भी खोज इंजन पेज (SERPs) में दिखाई देती हैं, भले ही अब वे ऑनलाइन उपलब्ध नहीं हैं (या कम से कम निर्दिष्ट URL पर नहीं है)।

आमतौर पर अन्य लिंक पर स्थानांतरित की गई वेबसाइट जैसे ब्लॉग, न्यूज़ पोर्टल्स इत्यादि को अक्सर सूचित नहीं किया जाता है कि इन साइटस को हटा दिया गया है और अब इन्हे एक नए URL के तहत पाया जा सकता है, तो ऐसी स्थिति में भी Error 404 दिखाई देता है। कई वेबसाइट ऑपरेटर नियमित रूप से अपने इन बाहरी लिंक की जाँच नहीं करते हैं जिससे एक कामकाजी लिंक भी आसानी से एक Dead लिंक हो जाता है।

‘404 त्रुटि को फिक्स कैसे करें?

404 त्रुटि का मतलब पूर्ण रूप से यह नहीं होता है कि यह जानकारी अब बिल्कुल भी उपलब्ध नहीं है। कई मामलों में इस मूल त्रुटि का समाधान बड़ी आसानी से मिल जाता है और विज़िटर को उस वेब पेज पर जल्दी से निर्देशित किया जा सकता है जिसे वह मूल रूप से ढूंढ रहा है। यदि आप वास्तव में 404 त्रुटि के बारे में जानना चाहते हैं की how to fix 404 on android, pc, तो आप इन संभावित समाधानों को आजमा सकते है:

पेज को दुबारा लोड करें: यह हो सकता है कि यह Error 404 Code किसी सरल कारण से प्रकट हुआ हो जो उस पेज को ठीक से लोड करने पर समाप्त हो जाये। इसलिये अपने ब्राउज़र में रिफ्रेश बटन पर क्लिक करके या F5 बटन को दबाकर इसे आसानी से चेक किया जा सकता है।

URL की जाँच करें: भले ही आपने URL को मैन्युअल रूप से दर्ज किया हो या किसी फिर लिंक के माध्यम से क्लिक किया हो, संभव हो इसमें कोई गलती हो गई हो, और Error 404 आ गया हो इसलिए आपको वेबसाइट के निर्दिष्ट URL की जांच अवश्य करनी चाहिए। इसलिए उस ‘स्वच्छ’ URL में अचूक शब्द, अक्षर, संख्या, स्लैश और प्रतीकों को अच्छी तरीके से जाँच ले, क्योकि इसमें कई अपठनीय शब्द होते है।

निर्देशित स्तरों के माध्यम से वापस जाएँ: उदाहरण के लिए, यदि किसी निम्न संरचना का कोई URL example.com/Directory1/Directory2/Directory3 404 Error Page का कारण बनता है, तो आपको यह जांचने के लिए कि यह वांछित पृष्ठ जुड़ा हुआ है या नहीं आपको केवल उस URL की अंतिम निर्देशिका को साफ़ करने की आवश्यकता होती है। क्योकि आप जिस पृष्ठ की तलाश कर रहे हैं उसका लिंक पिछले पृष्ठ पर दिखाई देना चाहिए। यदि वह उस पृष्ठ पर नहीं पाया जाता है तो आप पुनः पिछले पृष्ठ पर वापस आ सकते हैं और फिर वहां से सही लिंक की तलाश कर सकते हैं।

Error 404

वेबसाइट के Search Function का उपयोग करें: कई वेबसाइटें अपने होमपेज के एक हिस्से में एक Search Function को प्रदान करती हैं। जहा आप एक या कई कीवर्ड को दर्ज करके, उस विशिष्ट पृष्ठ को खोज सकते है, जिसे आप खोज रहे हैं।

एक सर्च इंजन का उपयोग करें: आपके पास अपनी पसंद की वेबसाइट को खोजने और उसका उपयोग करने की संभावना भी है। जब तक वह Desired Site मौजूद है, तब तक आप वेबसाइट डोमेन / या कीवर्ड ट्रांसक्रिप्शन के द्वारा उसे खोजने में सक्षम हो सकते है।

ब्राउज़र कैश और कुकी को हटाएं: यदि आप किसी अन्य डिवाइस से निर्दिष्ट वेबसाइट तक पहुंचते हैं, और HTTP Error 404 केवल एक निश्चित कंप्यूटर पर ही दिखाई देती है, तो यह समस्या आपके ब्राउज़र के साथ हो सकती है। इसलिए आपको इस साइट के लिए Browser Cache के साथ-साथ सभी Cookies को भी डिलीट कर देना चाहिए, जिसके बाद आपको उस पृष्ठ तक पहुंचने की अनुमति मिल सकती है।

वेबसाइट से संपर्क करें: यदि ऊपर दिए गए सुझावों में से कोई भी प्रयास Error 404 के निवारण के लिए सफल नहीं होता है, तो उस स्थिति में शेष विकल्प केवल उस वेबसाइट के लिए जिम्मेदार व्यक्ति / लोगों से संपर्क ही हो सकता है। संपर्क जानकारी आमतौर पर उस वेबसाइट के ‘Contact Us’ पेज पर ही मिल सकती है। जहा वेबसाइट के ऑपरेटर आपको यह जानकारी प्रदान करेंगे कि क्या आप जिस पेज की तलाश कर रहे हैं वह वास्तव में मौजूद है, या उस पेज को एक नए URL पर ले जाया गया है।

404 त्रुटि ही क्यों लिखा जाता है? 

404 त्रुटि में, जो पहला अंक होता है वह Client Error को इंगित करता है, जैसे कि गलत Uniform Resource Locator (URL) और शेष दो अंक Specific Error की और संकेत करते हैं। यहाँ HTTP में Three-Digit Code का उपयोग FTP और NNTP जैसे पहले के Protocol में उपयोग होने वाले Code के समान है।

HTTP के स्तर पर, 404 Error एक प्रतिक्रिया कोड है जो मानव द्वारा आसानी से पढ़ा जाने वाला “Reason Phrase” है। HTTP द्वारा विनिर्देशन वाक्यांश “Not Found” और कई वेब सर्वरों द्वारा डिफ़ॉल्ट रूप से एक HTML पृष्ठ को जारी करने का सुझाव देता है जिसमें Error 404 और “Not Found” दोनों तरह के Phrase शामिल होते हैं। जहाँ इन पृष्ठों को ले जाने या हटाए जाने पर 404 त्रुटि अक्सर वापस आ जाती है।
Error 404पहले के Case में, 301 Moved स्थायी रूप से प्रतिक्रिया देकर URL मैपिंग या URL पुनर्निर्देशन को बेहतर तरीके से नियोजित करता था, जिसे अधिकांश सर्वर कॉन्फ़िगरेशन फ़ाइलों या URL पुनर्लेखन के माध्यम से कॉन्फ़िगर किया जा सकता है; जबकि दूसरे Case में, 410 Gone को वापस किया जाना चाहिए। इन दोनो विकल्पों के लिए विशेष सर्वर कॉन्फ़िगरेशन की आवश्यकता होती है, जिसमे अधिकांश वेबसाइट इनका उपयोग नहीं करती है। 

404 Error का वेबसाइट की रैंकिंग पर प्रभाव

सर्च इंजन, जैसे कि Google और बिंग, में इस तरह की साइट की एक नकारात्मक छाप होती है। यदि किसी Crawler को कई अनुरोध के साथ Error 404 मिल रहे हो, तो यह माना जाता है कि उस साइट को सही तरीके से नहीं बनाया गया है। इसलिए Dead लिंक किसी भी साइट की रैंकिंग को बुरी तरह से प्रभावित करते हैं और Google SERPs में उनकी रैंकिंग कम होने लगती है और बहुत अधिक 404 Error Page होने पर Search Engine उसे रैंक करना भी बंद कर सकता है। जिससे उस वेबसाइट पर विज़िटर की संख्या में काफी कम हो जाती है।

यदि किसी Website में पेज Broken Links से भरा हुआ है और Landing Page (Search Engine Result से Access किया गया Page) भी Dead है, तो विज़िटर उस साइट पर अपना भरोसा खो देते है। यदि कोई साइट नियमित रूप से इस तरह की समस्या का सामना कर रही है, तो उपयोगकर्ताओं को यह पता लगा कर सुनिश्चित करे कि उस साइट पर वांछित सामग्री अभी भी उपलब्ध है या नही।

404 Error की पहचान कैसे करे? 

404 Error Pages को रोकने के लिए वेबसाइट ऑपरेटरों के लिए यह महत्वपूर्ण होता है, की वह अपनी वेबसाइट पर आंतरिक Error 404 पृष्ठों के साथ-साथ अन्य साइटों पर भी बाहरी 404 Error Pages पर भी लागू करे। आज इन टूटे हुए लिंक को अधिक आसानी से खोजने में सहायता करने के लिए कई प्रकार के मुफ्त उपकरण उपलब्ध हैं। जिनमे तीन सर्वश्रेष्ठ और सबसे प्रसिद्ध हैं:

Error 404

Google Search Console (जिसे पहले ‘Google वेबमास्टर टूल’ के नाम से जाना जाता था): इसके लिए आपको Google सर्च कंसोल विकल्प का उपयोग करना चाहिए। Google क्रॉलर द्वारा पाई गई कोई भी 404 Errors वेब टूल में प्रदर्शित की जाती हैं जहा इन्हें ठीक किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त फ़ंक्शन आपको robots.txt फ़ाइलों में Errors को खोजने में सक्षम बनाते हैं और क्रॉलिंग आंकड़ों का उपयोग करके आप यह पता लगा सकते है कि आपकी साइट को कितनी बार Google क्रॉलर के द्वारा क्रॉल किया गया है।

Dead Link Checker: आंतरिक और बाह्य रूप से जुड़े हुऐ Error 404 Pages को खोजने के लिए सबसे सरल और तेज़ टूल है Dead Link Checker। इस वेब ऐप के द्वारा आप जिस भी साइट का निरीक्षण करना चाहते हैं उसका URL इसमें दर्ज करें और फिर चेक को शुरू करें। यहां पर आपके पास एक Single Web Page या पूरी साइट को चेक करने का विकल्प मौजूद है। यह एप्लिकेशन Status Code और URL के साथ-साथ सभी ट्रैक किए गए Error 404 Pages को सूचीबद्ध करता है।

W3C लिंक चेकर: वर्ल्ड वाइड वेब कंसोर्टियम (W3C) का यह एक ऑनलाइन टूल विशेष रूप से काफी विस्तृत है, यह व्यक्तिगत वेबसाइट पृष्ठों का परीक्षण करने की प्रक्रिया में अन्य वेबसाइटों की तुलना में लिंक को सत्यापित करने में अधिक समय लेती है। W3C लिंक चेकर भी डेड लिंक चेकर की तरह ही काम करता है: आप यहाँ URL दर्ज करते हैं और यह टूल सभी पृष्ठों को सूचीबद्ध करता है। 

404 Error पेज कैसे बनाये?  

कुछ Content Management System (CMS) जैसे वर्डप्रेस, जूमला और ड्रुपल स्वचालित रूप जब इन वेबसाइट पर URL नहीं मिलता तो यह एक 404 Error Page उत्पन्न करते है। यहाँ HTTP 404 Page केवल एक साधारण मानक त्रुटि संदेश होता है, लेकिन इसे CMS एक्सटेंशन का उपयोग करके व्यक्तिगत किया जा सकता है। यदि आपका CMS आपको अपना 404 Page बनाने या उसे बदलने का विकल्प नहीं देता है, और आपकी वेबसाइट पूरी तरह से HTML, PHP आदि पर ही आधारित है, तो यह आपके लिये थोड़ा अधिक जटिल होगा। आप निम्नलिखित प्रक्रिया का प्रयोग करके एक Error Page को बना सकते हैं:

  • Root Directory में एक Error 404 Page (‘404.html’ या ‘404.php’) को बनाएं (यदि वह पहले से मौजूद नहीं है)।
  • Root Directory में .htaccess फ़ाइल को खोलें (या यदि आवश्यक हो तो एक बनाएं), फिर इसे ‘Error Document 404 /404.html’ में दर्ज करें और इसे Save करे। इस कोड के साथ ही एक Error 404 Page जेनरेट होगा।
  • यह देखने के लिए कि क्या यह सही काम कर रहा है या नहीं, आप अनुपलब्ध वेबपृष्ठ तक पहुँचने का प्रयास करें और यहाँ उम्मीद है कि आपको Error 404 संदेश ब्राउज़र में दिखाई देगा। 

अंत में 

हमनें इस लेख के माध्यम से आपको “Error 404 क्या है? 404 त्रुटि कैसे ठीक करें?” के बारें में सम्पूर्ण जानकारी देने प्रयास किया गया है, हमे पूरी उम्मीद है यह जानकारी आपके लिये काफी उपयोगी साबित होगी। 

यदि इस आर्टिकल से सम्बन्धित आपके पास कोई सुझाव हो तो कमेंट बाक्स के माध्यम से आप उसे हम तक पंहुचा सकते है। आप इस जानकारी को अपने दोस्तों और सोशल मिडिया पर जरूर शेयर करे। आपका धन्यवाद!

Read More