धरती के अंदर कच्चा तेल कैसे बनता है? How Crude Oil Form in Earth?

0
192
धरती के अंदर कच्चा तेल कैसे बनता है

कच्चा तेल (Crude Oil), जिसे अक्सर जमा हुआ गाढ़ा काला तरल के रूप में दर्शाया जाता है और जिसे खुदाई करके जमीन से बहार निकाला जाता है। यह हमे पृथ्वी से सीधे एक गाढ़े तरल जो अँनरिफाइंड रूप में मिलता है, इसे ही हम काला सोना के रूप में देखते है।

धरती के अंदर कच्चा तेल कैसे बनता है?

क्रूड ऑयल को यह उपनाम ‘ब्लैक गोल्ड’ उन उत्पादों की विशाल मात्रा से मिलता है जिन्हें अँनरिफाइंड कच्चे तेल से प्रोसेस करके प्राप्त किया जाता है। और हमें इसकी आवश्यकता अपने परिवहन तंत्र को ऊर्जा प्रदान करने के लिए गैसोलीन और डीजल ईंधन के रूप में होती है। 

यह हमारे घरों में भी ऊर्जा के रूप में इस्तेमाल होता है। इसके साथ अन्य पेट्रोलियम उत्पाद जैसे नेफ्ता, वैक्स और चिकनाई वाले तेल भी जो अंततः हमारे द्वारा उत्पादित और उपभोग किए जाने वाले लगभग हर प्रोडक्ट का एक हिस्सा बन चुके हैं।

लेकिन कच्चा तेल धरती में कहाँ से आता है?

चलिए हम इसका जवाब देते हैं, और कुछ अन्य बातें जो आपको कच्चे तेल के बारे में जरूर जाननी चाहिए।

धरती के अंदर कच्चा तेल कैसे बनता है? इससे संबंधित हम कुछ तथ्य जान लेते हैं।

1.) कच्चा तेल एक प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला जीवाश्म ईंधन है – जिसका अर्थ है कि यह मृत जीवों के अवशेषों से प्राप्त होता है।

2.) कच्चा तेल हाइड्रोकार्बन – हाइड्रोजन और कार्बन परमाणुओं के मिश्रण से बना होता है।

3.) यह तलछटी चट्टानों के भीतर छोटे स्थानों में भूमिगत जलाशयों में तरल रूप में मौजूद है, या यह ऑयल सेंड्स की सतह के पास पाया जा सकता है।

धरती के अंदर कच्चा तेल कैसे बनता है

धरती के अंदर कच्चा तेल कैसे बनता है?

4.) यह अक्सर प्राकृतिक गैस और खारे पानी के साथ पाया जाता है।

5.) कच्चे तेल को अक्सर हम पेट्रोलियम कहते है। ऐसा इसलिए है क्योंकि पेट्रोलियम में अँनरिफाइंड कच्चे तेल के साथ-साथ रिफाइंड पेट्रोलियम प्रोडक्ट दोनों शामिल होते हैं।

6.) यह नॉन-रिन्यूएबल है – यानिकि इसे एक बार ही इस्तेमाल किया जा सकता है और इसे आसानी से बदला नहीं जा सकता है।

धरती के अंदर कच्चा तेल कैसे बनता है? How Crude Oil Form in Earth?

कच्चा तेल, मृत critters, बहुत दबाव, बहुत अधिक गर्मी, और सैकड़ों हजारों साल के समय में इसका निर्माण होता है। कच्चा तेल मृत जीवों (डायटम) जैसे को शैवाल और ज़ोप्लांकटन के अवशेषों से बनता है जो लाखों साल पहले समुद्री वातावरण में मौजूद हुआ करते थे। ये सभी जीव उस समय पृथ्वी पर जीवन के प्रमुख रूप में मौजूद थे।

FYI : यह समय डायनासोर के युग के आसपास का नहीं है। इसलिए मुख्यत ये कहानिया जो आप लोगो ने सुनी होगी कि यह जीवाश्म ईंधन डायनासोर के अवशेषों से बने है, ऐसा नहीं हैं। 

जब वे मृत जीव जीवित हुआ करते थे तो वे सूर्य से ऊर्जा को अवशोषित करते थे और उसे अपने शरीर के भीतर कार्बन अणुओं के रूप में स्टोर करते थे। लेकिन जब वह मर गए तो उनके अवशेष समुद्र या नदी के तल में डूब गए और रेत, मिट्टी और चट्टान की परतों में दब गए।

आप हमारे इन आर्टिकल्स को भी देख सकते है 

लाखों वर्षों से, इन जीवों के अवशेष अधिक तलछट और कार्बनिक पदार्थों के नीचे गहरे और गहरे दबे हुए थे। जहाँ अत्यधिक दबाव, उच्च तापमान और ऑक्सीजन की कमी ने इन कार्बनिक पदार्थ को केरोजेन नामक मोम जैसे पदार्थ में बदल दिया।

धरती के अंदर कच्चा तेल कैसे बनता है

धरती के अंदर कच्चा तेल कैसे बनता है?

जहाँ और भी अधिक गर्मी, दबाव और समय के साथ केरोजेन कैटाजेनेसिस नामक एक प्रक्रिया से गुजरता है जो केरोजेन को हाइड्रोकार्बन में बदल देता है। दबाव, गर्मी और कार्बनिक पदार्थों की मूल संरचना ही हाइड्रोकार्बन के प्रकार को निर्धारित करती है जिससे हाइड्रोकार्बन कच्चे तेल के रूप में बदल जाता हैं।

एक अन्य उदाहरण हम ले सकते है यदि तापमान कम है तो तारकोल (asphalt) का निर्माण होगा, और यदि तापमान अधिक है तो प्राकृतिक गैस का निर्माण होगा। 

कच्चा तेल बनने के बाद यह आसपास की चट्टान में छोटे छिद्रों से होते हुए उच्च दबाव वाले क्षेत्र से निम्न दबाव की ओर बढ़ता है, यह अक्सर ऊपर की ओर होता है।

कुछ जगह यह तेल सतह पर बनता हैं जहां यह जमा होता है, अन्य मामलों में तेल चट्टान या मिट्टी की अभेद्य परतों के नीचे फंस जाता है जहां यह भूमिगत जलाशयों का निर्माण करता है।

कच्चा तेल हमे कितनी गहराई पर मिलता है? At what depth do we get crude oil?

अक्सर यह कहाँ जाता है की कच्चा तेल गहरा और गहरा होता जा रहा है। लेकिन यह पूरा सच नहीं है। वास्तव में, कच्चा तेल केवल ऊपर की ओर बढ़ा है। यहाँ तेल के लिए केवल ड्रिलिंग होती है जहाँ आसानी से पहुंचने वाले तेल जलाशयों का उपयोग किया जाता है।

सबसे पहला वर्ष जहां डेटा उपलब्ध है, 1949 से पता चलता है कि ड्रिल किए गए तेल के कुओं की औसत गहराई 3,500 फीट थी।

आप हमारे इन आर्टिकल्स को भी देख सकते है

2008 तक यह औसत बढ़कर 6,000 फीट हो गया। और वर्तमान में मौजूद सबसे गहरा कुआं 40,000 फीट गहरा है। यह माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई से 11,000 फीट अधिक है।

सभी ड्रिलिंग सीधे नीचे नहीं होती हैं, जब वे गहराई कहते हैं तो इसका मतलब है कि उन्हें कितनी दूर तक ड्रिल करना है, कभी-कभी इसका मतलब बड़ी क्षैतिज दूरी को भी कवर करना होता है।

कच्चा तेल कहां पर मिलेगा, यह कैसे पता चलता है? How to know where to get crude oil?

भूवैज्ञानिक तेल का पता लगाने में उस्ताद होते हैं। अक्सर जिसे तेल की खोज कहा जाता है, उसके लिए भूवैज्ञानिक एक ऐसे क्षेत्र की तलाश करते है जो कच्चा तेल (काला सोना) खोजने के लिए सभी मुख्य बिन्दुओ को संतुष्ट कर दे।

धरती के अंदर कच्चा तेल कैसे बनता है

धरती के अंदर कच्चा तेल कैसे बनता है?

तेल अक्सर उन विशाल भूमिगत जलाशयों में पाया जाता है जहाँ कभी प्राचीन समुद्र स्थित हुआ करते थे। यह या तो जमीन के नीचे हो सकता है या समुद्र तल के नीचे समुद्र में हो सकता है।

तेल खनन के पहले के वर्षों के दौरान, भूवैज्ञानिक यह निर्धारित करने के लिए मिट्टी, सतह की चट्टान और अन्य सतह की विशेषताओं का अध्ययन करते है जिससे यह संकेत मिले की तेल नीचे पड़ा हो सकता है।

बाद में उपग्रह इमेजरी, गुरुत्वाकर्षण मीटर जैसे अधिक तकनीकी विकास के साथ, पृथ्वी के चुंबकीय क्षेत्र का परीक्षण किया जाता है, और ‘स्निफ़र्स’ जो हाइड्रोकार्बन की गंध का पता लगाते हैं, उनका इस्तेमाल किया जाता है।

आज इस्तेमाल किया जाने वाला सबसे आम तरीका शॉक वेव्स उत्पन्न करना है जो चट्टान की परतों से होकर गुजरती हैं और वापस सतह पर परावर्तित होती हैं जहां उन्हें तेल के जलाशय के संकेतों के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। 

यह भूकंपीय स्रोत उपकरणों जैसे कि एक संपीड़ित-एयर गन, एक थम्पर ट्रक, या विस्फोटक के साथ किया जाता है। फिर वे जमीन पर या पानी पर मार्कर बॉय द्वारा जीपीएस निर्देशांक का उपयोग करके स्थान को चिह्नित करते हैं।

कच्चा तेल आमतौर पर रेगिस्तान और आर्कटिक क्षेत्रों में ही क्यों पाया जाता है? Why is crude oil usually found only in desert and arctic regions?

टेक्टॉनिक प्लेट गैस और तेल के जलाशयों के स्थान का निर्धारित करती है जो हमारे यह समझाने के लिए पर्याप्त है कि रेगिस्तान और आर्कटिक क्षेत्र पृथ्वी पर सबसे बड़ा हाइड्रोकार्बन भंडार क्यों रखते हैं। लेकिन ऐसे बड़े भंडार के अन्य महत्वपूर्ण स्थान भी हैं: जैसे नदी, डेल्टा और महाद्वीपीय किनारे। जहाँ इन क्षेत्रों में आज विश्व के अधिकांश तेल और गैस भंडार हैं।

आप हमारे इन आर्टिकल्स को भी देख सकते है

तेल और गैस का परिणाम ज्यादातर ऐसे वातावरण में मृत सूक्ष्मजीवों के तेजी से दबने से होता है जहां ऑक्सीजन इतनी कम होती है कि वे विघटित नहीं होते हैं। ऑक्सीजन की यह कमी उन्हें अपने हाइड्रोजन-कार्बन बॉन्ड को बनाए रखने में सक्षम बनाती है, जो तेल और गैस के उत्पादन के लिए एक आवश्यक घटक है।

धरती के अंदर कच्चा तेल कैसे बनता है

धरती के अंदर कच्चा तेल कैसे बनता है?

प्लेट टेक्टोनिक्स और कॉन्टिनेंटल रिफ्टिंग द्वारा निर्मित नये विकसित महासागर बेसिन, एनोक्सिक जल में तेजी से दफन होने के लिए सही स्थिति प्रदान करते हैं। नदियाँ इन घाटियों को प्रचुर मात्रा में कार्बनिक अवशेषों को ले जाने वाले तलछट से तेजी से भर देती हैं।

क्योंकि इन घाटियों में पानी का संचार सीमित होता है, इसलिए उनमें खुले समुद्र की तुलना में ऑक्सीजन का स्तर भी कम होता है। उदाहरण के लिए, कैलिफोर्निया की खाड़ी, जो एक महासागर बेसिन के विकास क्रम में है, आज वास्तविक समय में एक नया तेल और गैस भंडार बना रही है। 

इस प्रतिबंधित परिसंचरण वातावरण में मेक्सिको की खाड़ी भी नए तेल और गैस के निर्माण का एक बेहतरीन उदाहरण है। 

प्लेट टेक्टोनिक्स जो एनोक्सिक के दफन के लिए स्थान और स्थितियां को प्रदान करता है, वही भूगर्भिक पथों के लिए भी जिम्मेदार है जो इन तलछटी घाटियों का निर्माण करती हैं। महाद्वीपीय बहाव, सबडक्शन और अन्य महाद्वीपों के साथ टकराव दलदलों, नदी, डेल्टा और हल्के जलवायु मूवमेंट को प्रदान करते हैं – जिससे ध्रुवों और रेगिस्तानों में अधिकांश कार्बनिक जमा होते हैं, लेकिन वे संयोग से आज समाप्त हो गए हैं। 

प्लेट टेक्टोनिक्स “प्रेशर कुकर” का काम करती है जो धीरे-धीरे ऑर्गेनिक्स को तेल और गैस में बदलता है। इस प्रक्रिया में आमतौर पर लाखों साल लगते हैं, जिससे प्लेट की गति के कारण दुनिया भर में तेल और गैस जमा होने में काफी समय लगता है।

आप हमारे इन आर्टिकल्स को भी देख सकते है 

हाइड्रोकार्बन पानी की तुलना में बहुत अधिक उत्प्लावक (buoyant) होते हैं,  और अंततः सतह पर अपना रास्ता बनाते हैं। स्थानांतरण, भूमि द्रव्यमान और अन्य टेक्टॉनिक फाॅर्स के बीच टकराव कच्चे तेल और गैस को इन कार्बनिक तरल पदार्थों के रूप में पृथ्वी की सतह पर जलाशयों के रूप में जमा करते हैं। आज इन जलाशयों को हम तेल और गैस क्षेत्र के रूप में जानते हैं।

सबसे ज्यादा कच्चे तेल का उत्पादन किस देश में होता है? Which country produces the most crude oil?

IEA के सबसे हालिया आंकड़ों के अनुसार, 2022 में दुनिया भर में प्रतिदिन औसतन 180 मिलियन बैरल कच्चे तेल का उत्पादन किया गया। जिसमे केवल 56 मिलियन बैरल कच्चा तेल, और 124 मिलियन बैरल कच्चा तेल, कंडेनसेट, एनजीएल और गैर-पारंपरिक स्रोतों से शामिल हैं।

धरती के अंदर कच्चा तेल कैसे बनता है

धरती के अंदर कच्चा तेल कैसे बनता है?

दुनिया के आधे से अधिक कच्चे तेल के उत्पादन के लिए शीर्ष पांच तेल उत्पादक देश जिम्मेदार हैं।

2022 में अब तक के शीर्ष पांच तेल उत्पादक देश हैं:

1.) यूएसए 17 मिलियन बैरल प्रति दिन

2.) रूस प्रति दिन 12 मिलियन बैरल

3.) सऊदी अरब प्रति दिन 10 मिलियन बैरल 

4.) कनाडा प्रति दिन 6 मिलियन बैरल

5.) इराक प्रति दिन 5 मिलियन बैरल

दुनिया में अभी कितना कच्चा तेल बचा है? How much crude oil is left in the world now?

कच्चे तेल का उत्पादन अभी भी बढ़ रहा है क्योंकि यह दशकों से जारी है, विशेषज्ञ यह गणना करने की कोशिश कर रहे हैं कि यह तेल कब खत्म हो जाएगा। यह एक साधारण विज्ञान नहीं है – क्योंकि यह अभी भी अज्ञात है कि अनएक्सप्लोरड स्थानों में पृथ्वी में कितना तेल बचा हुआ है।

हालांकि कुछ विशेषज्ञों ने अनुमान लगाया है, की अपनी मौजूदा तकनीक का उपयोग करते हुए, वर्तमान तेल के भंडार से निष्कर्षण की वर्तमान दर पर अभी भी लाभ कमा सकते हैं। लेकिन आज से 48 साल बाद यानिकि आज से – 2067 तक केवल 48 साल और अपनी खपत को कम करने या नई तकनीक विकसित किए बिना, 2067 में तेल उत्पादन बंद हो सकता है।

धरती के अंदर कच्चा तेल कैसे बनता है

धरती के अंदर कच्चा तेल कैसे बनता है?

लेकिन इसे अभी स्थायी तौर पर नहीं कहाँ जा सकता है। क्योकि हर पिछली कयामत की तारीख की भविष्यवाणी को हमेशा पीछे धकेल दिया गया है।

अगर कच्चा तेल खत्म हो जाए तो क्या होगा? What happens if crude oil runs out?

जैसा कि चार्ल्स डार्विन ने कहा है, की जीवित रहने के लिए हमें परिवर्तन के अनुकूल अपने आपको बदलना चाहिए। लेकिन तेल उत्पादन के अंत के परिणाम हमारे आधुनिक समाज को मजबूर कर सकते हैं काफी हद तक बदलने को।

आप जितना सोच सकते हैं, हम उससे कहीं अधिक के लिए तेल पर निर्भर हैं। तेल हमारे जीवन के लगभग हर एक हिस्से भोजन, कपड़े, सामग्री, फार्मास्यूटिकल्स, और प्लास्टिक के उत्पादों और परिवहन तक में मौजूद है। हमारे अपने अंदर परिवर्तन तेल विकल्पों के विकास और उन्हें अपनाने पर बहुत अधिक निर्भर करेगा।

हालांकि, आपूर्ति और मांग में वृद्धि के साथ-साथ तेल की कीमतों में वृद्धि होने की संभावना है। अगर आपूर्ति और मांग की बात करें तो, जो पिछले एक दशक से कच्चे तेल की मांग लगातार बढ़ रही है। यह अधिक संभावना है कि यदि कीमतें बढ़ती हैं तो उपभोक्ता प्रभावी विकल्पों की तलाश करना शुरू कर देंगे।

अंत में 

हमनें इस लेख के माध्यम से आपको “धरती के अंदर कच्चा तेल कैसे बनता है?” के बारें में सम्पूर्ण जानकारी देने प्रयास किया गया है, हमे पूरी उम्मीद है म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर कैसे बने यह जानकारी आपके लिये काफी उपयोगी साबित होगी। 

यदि इस आर्टिकल से सम्बन्धित आपके पास कोई सुझाव हो तो कमेंट बाक्स के माध्यम से आप उसे हम तक पंहुचा सकते है। आप इस जानकारी को अपने दोस्तों और सोशल मिडिया पर जरूर शेयर करे। आपका धन्यवाद!

आप हमारे इन आर्टिकल्स को भी देख सकते है 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here